Tuesday, May 11, 2021
- Advertisement -

पिता की परेशानी को दूर करने के लिए 12वीं पास छात्र ने बनाया ड्राइवरलैस ट्रैक्टर, हो रही है तारीफ

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

New Delhi: दुनिया में ड्राइवरलैस कार चलाने पर शोध चल रहा है। इससे पहले ही एक 12वीं पास छात्र ने ऐसा कारनामा कर दिखाया है, जिसके लिए उसकी जमकर तारीफ की जा रही है। छात्र ने ड्राइवरलैस ट्रैक्टर बना दिया है। जिसकी मदद से अब बिना ड्राइवर के ही ट्रैक्टर खेतों की जुताई कर सकता है। यह कारनामा करने वाले छात्र का नाम योगेश नागर है, और वह राजस्थान के बारां का रहने वाला है।

पिता को होती थी परेशानी


खेतों की जुताई के लिए अक्सर जब ड्राइवर नहीं मिल रहे थे तो योगेश के पिता को काफी परेशानी होती थी। पिता को परेशान होते देख योगेश ने ऐसी तरकीब निकाली। अब ड्र्राइवर खोजने की जरूरत नहीं। ड्राइवरलैस ट्रैक्टर ही खेतों में जुताई करेगा।

ड्राइवरलैस ट्रैक्टर रिमोट से चलता है
योगेश ने एक रिमोट बनाया है, जिसके कंट्रोल से ट्रैक्टर खेत की जुताई करता है। इसकी खास बात यह है कि रिमोट कंट्रोल से ट्रैक्टर एक किमी तक कंट्रोल में आता है। वहीं अगर कोई सामने आ जाए तो इसमें लगे सेंसर एक्टिव हो जाते हैं और अपने आप ही ब्रेक लग जाते हैं। जिससे किसी को कई नुकसान भी नहीं पहुंचता है।

क्या कहते हैं योगेश
योगेश बताते हैं कि उनके पास 15 बीघा खेतों के लिए एक ट्रैक्टर है। कई बार उन्होंने देखा कि खेतों की जुताई करने के दौरान उनके पिता के पेट में दर्द होता था। जब डॉक्टरों के द्वारा ईलाज करवाया गया तो पता चला कि उनके आंतों में खिंचाव आया है। जिसके बाद पिता की जगह उन्होंने ट्रैक्टर चलाया।

50 हजार की लागत से बनाया ड्राइवरलैस ट्रैक्टर
ड्राइवर लैस ट्रैक्टर बनाने के लिए योगेश ने पिता को अपनी मन की बात बताई। हालांकि पिता को बेटे की बात पर यकीन नहीं हुआ। लेकिन उन्होंने दो हजार रुपये योगेश को दिए। 2 हजार रुपये की मदद से योगेश ने एक ऐसा सैंपल तैयार किया, जिससे ट्रैक्टर को आगे पीछे आसानी से किया जा सकता था। यह देखकर पिता को यकीन हुआ, उन्होंने 50 हजार रुपये बेटे को दिए। इन पैसों से योगेश ने कुछ जरूरी सामान खरीदा और ऐसा रिमोट तैयार कर दिया, जो ट्रैक्टर को बिना ड्राइवर के ही चला सकता है। बताया जा रहा है कि योगेश का ये रिमोट सैटेलाइट के जरिए ट्रैक्टर में लगे ट्रांसमिटर से कनेक्ट रहता है।

source news18

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -