Thursday, May 13, 2021
- Advertisement -

20 साल की लड़की ने मुंडवा दिए अपने सिर के बाल, कहा कैंसर के मरीजों के काम आएंगे

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

New Delhi: हर लड़की का सपना होता है कि उसके बाल लंबे होने के साथ काले घने होने चाहिए। जिसके लिए लड़कियां न जाने कितने ही उपाय व जतन करती हैं। हालांकि किसी के बाल लंबे होते हैं तो काले घने नहीं होते। बहरहाल, आज हम आपको एक ऐसी लडक़ी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने हंसते-हंसते अपने सर के बालों को मुंडवा दिया।

कैंसर पीडि़तों के लिए मुंडवाए बाल
20 साल की श्रुति मैती को भी अपने बाल से काफी प्यार था। वह थर्ड ईयर की छात्रा हैं। फिर भी उन्होंने इस बारे में नहीं सोचा कि कॉलेज जाने पर लोग क्या कहेंगे। बाल नहीं होने से उनकी सुंदरता में भी कमी आएगी। लेकिन श्रृति ने इन सब बातों पर ध्यान नहीं देते हुए खुशी-खुशी अपने बाल कैंसर के मरीजों के लिए दान कर दिए हैं। वह कहती है गुण अच्छे होने चाहिए, बाकी तो सब सुंदर है। वह कहती हैं कि एक कैंसर रोगी के चेहरे पर एक मुस्कान मेरे बालों की तुलना में अधिक सुंदर है।

बाल दान करने के लिए कुछ दिन पहले किया फैसला
श्रुति मैती बारिपदा शहर के तुलसीचौरा इलाके में रहती हैं। वह बताती हैं कि उन्होंने बाल दान करने के लिए अभी कुछ दिन पहले ही सोचा था। उन्होंने बताया कि जब मैं प्लस-2 के अंतिम वर्ष में थी तो मुझे सर मुंडवाने का ख्याल आया था। उन्होंने बताया कि वह अपने एक करीबी दोस्त की मां से मिले, जिनका कीमोथेरेपी के कारण बाल खत्म हो चुके थे। बस मैंने उसी वक्त सोच लिया कि हम इनकी मदद करेंगे

कैंसर पीडि़तों के लिए विग बनाने वाले लोगों से किया संपर्क
श्रुति मैता ने इसके बाद उन लोगों से संपर्क किया जो कैंसर पीडि़तों के लिए विग तैयार करते हैं। लेकिन वो मदद न कर सके। इसके बाद मैती ने इंटरनेट पर उन संगठनों की खोज की जो कैंसर रोगियों के लिए विग बनाने के लिए महिलाओं के बाल खरीदते हैं। आखिर में दो संगठन मिल ही गए

तीन दिन पहले मुंडवाए सर के बाल
मैती बताती हैं कि उन्होंने एक नाई को अपने घर तीन दिन पहले बुलाया था। लेकिन उसने बाल काटने से मना कर दिया। जब नाई को मैती के बाल कटवाने के पीछे का मकसद पता चला तो उसे फ्री में बाल काट दिए। मैती बताती हैंं कि वह इन बालों को कूरियर की मदद से संगठन को भेज देंगी। श्रुति की मां ने कहा कि उन्हें अपनी बेटी पर गर्व है।

source the new indian express

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -