Saturday, November 27, 2021
- Advertisement -

बंदर ने बुजुर्ग से छीन लिया पैसों से भरा बैग, पेड़ पर चढक़र करने लगा नोटों की बारिश

Must Read

देश की पहली एमबीए पास सरपंच है छवि, अपनी मेहनत से बदल दी गांव की सूरत

नई दिल्ली : हमने किताबो, किस्से कहानियों में ऐसी चीजे जरूर पढ़ी होगी जिसमे युवा ने कॉरपोरेट नौकरी (corporate...

आपकी लाइफ बदल देगा मिट्टी का ये ए. सी. , बिना बिजली और बिना खर्च के देता है ठंडक

नई दिल्ली : जिस तरह से गर्मी बढ़ती जा रही जा रही है एयर कंडीशनर का प्रयोग भी बढ़ता...

अंग्रेजी हुकूमत को चारों खाने चित्त कर दिया था बोरोलीन ने, आज भी बाजार में है इस क्रीम का दबदबा

बोरोलीन बाज़ार में एक जानी मानी एंटीसेप्टिक क्रीम की ब्रांड है। आज इतने वर्षों बाद भी बोरोलीन का बाज़ार...

New Delhi: खाने पीने के शौकीन बंदर जब भी किसी को कुछ खाते देखते है तो उसके पास पहुंच जाते हंै। कई बार तो हाथ से खाने-पीने का सामान भी लेकर फरार हो जाते हंै। हालांकि यह एक वक्त के लिए हंसी मजाक के लिए ठीक भी लगता है। लेकिन एक बंदर ने पेड़ पर चढक़र ऐसा तांडव किया, जिसे देखकर लोग भी हैरान रह गए। दरअसल सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें एक बंदर पेड़ के ऊपर चढक़र नोटों की बारिश कर रहा है। और लोग नीचे उन पैसों को जोडक़र एक बुजुर्ग को दे रहे हैं। क्या है पूरा मामला चलिए जानते हैं
यूपी के सीतापुर की घटना
सोशल मीडिया पर वायरल यह वीडियो यूपी के सीतापुर का बताया जा रहा है। जहां रजिस्ट्री कार्यालाय में अपनी जमीन बेचकर एक बुजुर्ग बाहर निकलते हैं, उनके हाथों में नोटों का बंडल होता है। जिसे देखकर एक बंदर उनकी ओर झपट्टा मारता है और कुछ सेकेंड में ही पेड़ पर चढ़ जाता है।

खाने की लालसा से बंदर ने मारा झपट्टा
बंदर ने बुजुर्ग पर झपट्टा इस इरादे से मारा था कि उसे लगा कि कुछ खाने का सामान बुजुर्ग के पास है। लेकिन उसे खाने की कुछ चीज नहीं मिली तो वह पेड़ पर चढक़र नोटों की बारिश करने लगा

लोगों ने शूट कर लिया वीडियो
बंदर जिस वक्त पैसों की बारिश कर रहा था। वहां खड़े लोगों ने इसका वीडियो शूट कर लिया और सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया। वीडियो में आप देख सकते हैं कि कैसे एक बंदर ने बुजुर्ग के पैसों के साथ खेल खेला है।

क्या कहते हैं पीड़ित बुजुर्ग
पीड़ित बुजुर्ग भगवानदीन ने बताया कि रजिस्ट्री कार्यालाय वह जमंीन की रजिस्ट्री कराने गए थे, जिसके लिए उन्हें 1 लाख रुपये मिले थे। वह पैसे समेट कर बैग में रखने ही वाले थे कि वहां बैठे एक बंदर ने उन पर हमला कर दिया, और एक 500 रुपये का एक बंडल लेकर पेड़ पर चढ़ गया। जिसके बाद वह पेड से पैसे नीचे फैंकने लगा। स्थानीय लोगों ने मेरी मदद की। हालांकि सात हजार रुपये के नोट खराब हो गए हैं। उन्होंने बताया कि उन्होंने यह जमीन बेटे का इलाज कराने के लिए बेची थी। क्योंकि वह गंभीर बीमारी से पीडि़त है।

- Advertisement -

Latest News

देश की पहली एमबीए पास सरपंच है छवि, अपनी मेहनत से बदल दी गांव की सूरत

नई दिल्ली : हमने किताबो, किस्से कहानियों में ऐसी चीजे जरूर पढ़ी होगी जिसमे युवा ने कॉरपोरेट नौकरी (corporate...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -