Wednesday, April 21, 2021
- Advertisement -

दो शावक को जन्म देने के बाद निर्भया(सफेद बाघिन) ने तोड़ दिया दम, ऑपरेशन के दौरान पेट में निकला था मरा हुआ शावक

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

New Delhi: दिल्ली चिडिय़ाघर में अभी खुशियां आई थी कि निर्भया की मौत ने सभी को दुखी कर दिया। निर्भया(सफेद बाघिन) ने बीते दिनों ही दो शावक को जन्म दिया। जू परिसर के अंदर काम करने वाले अघिकारी व कर्मचारी के साथ पशु प्रेमी काफी खुश थे। लेकिन अचानक निर्भया की तबियत बिगड़ी और सोमवार को देर रात उसने दम तोड़ दिया है। निर्भया महज अभी छह साल की ही थी। निर्भया दो शावकों का जन्म दिया था, और तीसरा शावक उसके पेट में मरा हुआ पाया गया था। जू प्रशासन की ओर से मिली जानकारी के अनुसार प्रसव संबंधी समस्या के कारण निर्भया की मौत हुई है। दिल्ली चिडिय़ाघर के निदेशक रमेश पांडे ने बताया कि छह साल की सफेद बाघिन ने गुरुवार को दो शावकों को जन्म दिया था। लेकिन एक और शावक को जन्म देने के दौरान उसे शुक्रवार से परेशानी होने लगी। जू प्रशासन की ओर से काफी प्रयास किया गया कि सफेद बाघिन का बचा लिया जाए। लेकिन उसे बचाने में पशु चिकित्सकों का कामयाबी हासिल नहीं हुई।
विसरा जांच के लिए बरेली भेजा गया सैंपल
निर्भया को बचाने के लिए बरेली से भी डॉक्टरों की एक टीम बुलाई गई थी। वहीं अब निर्भया के विसरा जांच के लिए बरेली स्थित भारतीय पशु चिकित्सा अनुससंधान संस्थान भेजा गया है। वहां से जो रिपोर्ट बन कर आएगी। इसके बाद खुलासा हो पाएगा कि निर्भया की मौत किन वजहों से हो पाई।

सफेद बाघिन (निर्भया)का ऑपरेशन भी किया गया था
जू के निदेशक रमेश पांडे ने बताया कि बरेली से आए डॉक्टरों की टीम की सलाह पर सफेद बाघिन का ऑपरेशन भी किया था। तीन घंटे चले इस ऑपरेशन के बाद संक्रमण हो गया। उसके पेट में मरा हुआ शावक था। उसके विभिन्न अंगों के हिस्सों में गंभीर संक्रमण हो गया था।

सफेद बाघिन का नाम क्यों रखा गया निर्भया
साल 2012 महीना दिसबंर, याद है न जब एक लडक़ी के साथ गैंगरेप किया गया था। जिसे लोग निर्भया कांड से भी जानते हैं। जू में रहने वाली सफेद बाघिन का नाम निर्भया रखा गया था। मालूम हो कि अप्रैल माह में भी कल्पना नाम की बाघिन ने दम तोड़ दिया था। इसके बाद बिट्टु बाघ भी मर गया था।

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -