Wednesday, May 19, 2021
- Advertisement -

किचन में पढ़कर रुशुदा ने पास की नीट परीक्षा, मिली MBBS सीट

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

मुंबई में रहने वाली 18 वर्षीय ख़ान रूशुदा परवीन ने साबित कर दिया है कि पढ़ने-लिखने के लिए अच्छा घर और माहौल होना जरूरी नही है. मुंबई के स्लम इलाके में एक कमरे में रहने वाली रुशुदा ने नीट परीक्षा क्लीकर करके एमबीबीएस सीट हासिल कर ली है. वह एक दिन न्यूरोलाजिस्ट बनना चाहती हैं.

The beeter india

जिस इलाके में रूशुदा रहती हैं, वहां गरीबी और अशिक्षा दर सबसे अधिक है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, गोवंडी के शिवाजी नगर में 15-49 आयु वर्ग की 13 प्रतिशत लड़कियां निरक्षर हैं. 2017 में रुशुदा ने 10 वीं कक्षा की परीक्षा 87 प्रतिशत अंक के साथ पास की थी. जिस उम्र में लड़कियों को पढ़ाई छोड़कर शादी के लिए मजबूर किया जाता है उस उम्र में रुशुदा के परिवारवाले उसे पढ़ने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं. रुशुदा की मां का कहना है कि मैं चाहती हूं मेरे बच्चे पढ़-लिखकर आत्मनिर्भर बनें. मेरे पति 25,000 रुपये कमाते है, जिसमें हमारा गुजारा हो जाता है लेकिन मैं चाहती हूं कि मेरे बच्चे इससे ज्यादा कमाकर अच्छी ज़िंदगी बिताए और खुश रहें. रुशुदा के पिता नुसरत 10 वीं पास हैं. नुसरत मैकेनिक का काम करके अपना परिवार चलाते हैं.

रुशुदा ने बिना कोचिंग के नीट परीक्षा पास की हैं. उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास था कि मैं सेल्फी स्टडी करके अच्छे नंबर ला सकती हूं. कड़ी मेहनत का ही नतीजा है कि पहली बार में ही नीट परीक्षा क्लीअर हो गया. रुशुदा ने बताया कि वह सुबह 5 बजे उठकर नीट परीक्षा के लिए तैयारी करती थीं. दोपहर में कॉलेज से आने के बाद थोड़ा आराम करने के बाद अपनी पढ़ाई में लग जाती थी. रात को 2 बजे तक वह पढ़ती रहती थी. रुशुदा अपनी सफलता का श्रेय अपने कॉलेज के शिक्षकों को देती हैं. रुशुदा ने 2019 में 12 वीं कक्षा में 87 प्रतिशत अंक हासिल किए थे. अपने स्टडी रूटीन के बारे में बताते हुए रुशुदा ने कहा कि मैं केवल ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर के लिए स्टडी से ब्रेक लेती थी. मूड फ्रेश करने के लिए रुशुदा कविताएं लिखती हैं और मेंहदी लगाती हैं.

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -