Friday, April 16, 2021
- Advertisement -

कानपुर जू में वन्यजीवों के लिए लगाए गए हीटर, खाने-पीने के डाइट प्लान भी कर दिए गए चेंज

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

New Delhi: दिल्ली ही नहीं बल्कि पूरे भारत में शीतलहर का प्रकोप देखने को मिल रहा है। तापमान लगातार 5 डिग्री से नीचे जा रहा है। जिससे इंसान तो इंसान वन्यजीव भी काफी परेशान हो रहे हैं। ठंड के ठिठुरन में उन्हें भी सुरक्षित जगह की आस है। बहरहाल, कानपुर जू में वन्यजीवों को ठंड से बचाने के लिए विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं। जू प्रशासन की ओर से बड़े प्रजाति के वन्यजीवों के बाड़े में हीटर लगाने की व्यवस्था शुरु कर दी गई है। प्रशासन की ओर से मिली जानकारी के अनुसार टाइगर, हाथी, चिम्पांजी व अन्य जीवों के बाड़े में हीटर लगा दिए हैं। जिससे उन्हें गर्माहट मिलेगी

बाड़े में बिछाई जा रही पॉलीथीन की परत

ani


मिली जानकारी के अनुसार जू में रहने वाले वन्यजीवों के लिए उनके बाड़े में पॉलीथीन की परत भी बिछाई जा रही है। ऐसा इसलिए किया जा रहा है कि जिससे वन्यजीवों के बाड़े में ठंडी हवा प्रवेश न कर सके।

लकड़ी के टाट भी लगाए जा रहे हैं

ani


कानपुर जू प्रशासन की ओर से बताया गया कि जू के अंदर वन्यजीवों के बाड़ों में लकड़ी के टाट भी लगाए जा रहे हैं। वहीं बोरे भी बिछाए जा रहे हैं। जिस पर छोटे प्रजाति के जीव भी आराम से सो सकते हैं।

खाने-पीने के प्लान भी चेंज
जू प्रशसान की ओर से बताया गया है कि गर्मी व सर्दी में वन्यजीवों के खाने में भी बदलाव किया जाता है। गर्मी में जहां बड़े प्रजातियों के वन्यजीवों को कम खाना दिया जाता है तो सर्दी के दिनों में ज्यादा खाना दिया जा रहा है। उदाहरण के तौर पर गर्मी के दिनों में जहां टाइगर को 8 से 10 किलो मीट दिया जाता था, तो अब सर्दी में 12 किलो मीट दिया जा रहा है। वहीं हाथी को ताजे फल खिलाए जा रहे हैं।

पशु चिकित्सक भी कर रहे हैं देखभाल
कानपूर जू प्रशासन की ओर से बताया गया है कि सर्दियों में किसी तरह से किसी जीव को परेशानी न हो और उनके स्वास्थ्य को देखते हुए रोजाना पशु चिक्तिसक वन्यजीवों के स्वास्थ्य की जांच भी कर रहे हैं। अगर किसी जीव की तबियत खराब हो रही है तो तुरंत उसे बाड़े से निकालकर जू के अंदर बने अस्पताल में रैफर कर दिया जाता है।

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -