Saturday, November 27, 2021
- Advertisement -

बड़े भाई की खातिर MBBS बहन बनी IAS अफसर, बीच में ही छोड़ दी MD की पढ़ाई

Must Read

देश की पहली एमबीए पास सरपंच है छवि, अपनी मेहनत से बदल दी गांव की सूरत

नई दिल्ली : हमने किताबो, किस्से कहानियों में ऐसी चीजे जरूर पढ़ी होगी जिसमे युवा ने कॉरपोरेट नौकरी (corporate...

आपकी लाइफ बदल देगा मिट्टी का ये ए. सी. , बिना बिजली और बिना खर्च के देता है ठंडक

नई दिल्ली : जिस तरह से गर्मी बढ़ती जा रही जा रही है एयर कंडीशनर का प्रयोग भी बढ़ता...

अंग्रेजी हुकूमत को चारों खाने चित्त कर दिया था बोरोलीन ने, आज भी बाजार में है इस क्रीम का दबदबा

बोरोलीन बाज़ार में एक जानी मानी एंटीसेप्टिक क्रीम की ब्रांड है। आज इतने वर्षों बाद भी बोरोलीन का बाज़ार...

New Delhi: पृथ्वी पर अगर कोई रिश्ता अगर सबसे प्यारा है तो वह है भाई-बहन का। भाई जो हमेशा अपनी बहन की सुरक्षा करने का जिम्मा लेता है, वहीं बहन भी भाई की कलाई पर राखी बांध उसकी लंबी आयु की कामना करती है। इस रिश्ते में कभी तकरार दिखती है तो कभी प्यार। कभी कोई किसी से रूठता है तो कोई मनाता है। भले ही कितनी भी दूरियां आए। लेकिन ये रिश्ता वक्त के साथ और भी मजबूत होता जाता है। आज बात ऐसे ही बहन व भाई की करने वाले हैं, जिसमें एक भाई ने जब अपनी एमबीबीएस डॉक्टर बहन को आईएएस बनने के लिए कहा तो उसने एमडी की पढ़ाई छोड़ भाई की बात मान ली, और पहले ही प्रयास में यूपीएससी जैसी कठिन परीक्षा पास कर आईएएस बनी। डॉक्टर से आईएएस बनी बहन का नाम है अर्तिका शुक्ला, और उनके बड़े भाई का नाम है गौरव शुक्ला। गौरव खुद आईएएस अफसर हैं, उन्होंने साल 2012 में यूपीएससी परीक्षा पास की।

अर्तिका के परिवार में कौन-कौन है
अर्तिका शुक्ला के परिवार में उनके पिता बृजेश शुक्ला हैं, जो कि पेशे से एक डॉक्टर हैं। उनकी मां होममेकर हैं। बड़े भाई गौरव शर्मा आईएएस अफसर हैं, वहीं उनके दूसरे भाई उत्कर्ष शुक्ला भी यूपीएससी पास कर अफसर बन चुके हैं। घर की छोटी बेटी अर्तिका भी अब भाईयों के नक्शे कदम पर चलते हुए आईएएस अफसर बन चुकी हैं।

यूपीएससी की तैयारी करने के लिए इतने घंटे की पढ़ाई जरूरी
अर्तिका हमेशा से ही टॉपर रही हैं। वह स्कूल कॉलेज में हमेशा टॉप करती आई हैं। अर्तिका की रूचि हमेशा से ही साइंस विषय में रही। इसलिए उनहेंने एमबीबीएस किया। इसके बाद सबसे कठिन कही जाने वाली एमडी में उनका सलेक्शन हुआ। वह पीजीआईएमईआर से एमडी कर रही थी, लेकिन बीच में उन्होंने पढ़ाई छोड़ यूपीएससी की तैयारी करने लगी। वह कहती हैं कि उन्होंने सटीक प्लान व फोकस्ड स्टीड कर यूपीएससी पास की है। 14 से 16 घंटे की पढ़ाई करने की जरूरत नहीं है।
वह बताती हैं कि यूपीएससी की परीक्षा अन्य परीक्षा की तुलना में अलग है। इसकी तैयारी आपको जीरो से शुरु करनी होती है।

बिना कोचिंग के यूपीएससी पास की
अर्तिका के बारे में एक और चीज उन्हें दूसरे छात्रों से अलग करती है कि उन्होंने यूपीएससी की तैयारी करने के दौरान कोई कोचिंग नहीं ली। जहां छात्र लाखों रुपये की कोचिंग लेते हैं. वहीं अर्तिका ने सेल्फ स्टडी की। उन्होंने साल 2015 में पहली बार यूपीएससी की परीक्षा दी, और पहले ही प्रयास में उन्होंने चौथा रैंक लाकर परीक्षा पास की और आईएएस बनी।
यूपीएससी की तैयारी करने वाले छात्रों के लिए दिए ये टिप्स
अर्तिका कहती हैं कि अकसर यूपीएससी की तैयारी करने के दौरान छात्रों के सामने यह समस्या रहती हैं कि वह जब प्रीलिम्स की परीक्षा देते हैं तो वह रिजल्ट का इंतजार करते हैं, बल्कि ऐसा नहीं करना चाहिए। प्रील्मिस का परिणाम कैसा भी हो, छात्र के लिए जरूरी है कि वह मैन परीक्षा की तैयारी करने लग जाए। क्योंकि मैन परीक्षा कठिन होती है। साथ ही उन्होंने कहा कि जिस विषय पर पकड़ आपकी अच्छी हो उसे ऑप्शनल विषय के रुप में सेलेक्ट करे। जब यह दोनों राउंड पार कर लिया जाता है, तब आती है बारी इंटरव्यू की। इंटरव्यू देने के दौरान घबराए नहीं, बल्कि चेहरे पर हल्की सी मुस्कान रहे, अगर किसी सवाल का जवाब नहीं आ रहा है, तो आराम से कह दे कि सर इसका जवाब नहीं है मेरे पास

Source asianet news

- Advertisement -

Latest News

देश की पहली एमबीए पास सरपंच है छवि, अपनी मेहनत से बदल दी गांव की सूरत

नई दिल्ली : हमने किताबो, किस्से कहानियों में ऐसी चीजे जरूर पढ़ी होगी जिसमे युवा ने कॉरपोरेट नौकरी (corporate...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -