Friday, April 23, 2021
- Advertisement -

खीरे के छिलकों से पैक होगा अब आपका खाना, आईआईटी रिसर्चरों ने की खोज

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

सलाद के रूप में खीरा हम सभी खाते हैं और ये खाने में स्वादिष्ट भी लगता है. खीरा स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद भी होता है. लेकिन आज बात खीरे की नहीं बल्कि इस छिलके की करेंगे. खीरे के छिलके का ये प्रयोग शायद ही आपने इसे पहले सुना होगा. वेस्ट चीजों को उपयोगी बनाने में शोधकर्ताओं का बड़ा हाथ होता है. आईआईटी खड़गपुर के छात्रों ने खीरे के छिलके का ऐसा प्रयोग किया है, जिसे देखकर हर कोई उनकी तारीफ़ किए बिना नहीं थक रहे हैं .

Repersantive image-pixbay

आईआईटी खड़गपुर के कुछ रिसर्चरों ने खीरे के छिलके का प्रयोग बाजा़र में मिलने वाली खाद्य पदार्थो की पैकेजिंग के लिए किया है. बताया जा रहा है कि इस छिलके से बने पैकेजिंग पर्यावरण के लिए लाभदायक होते हैं. ये हमारे पर्यावरण को नुकसान भी नहीं पहुंचाते हैं. खीरे के छिलके में दूसरे खाद्य पदार्थो की तुलना में अधिक सेल्लयूलोज होता है. सेलूलोज़ का प्रयोग मुख्य रूप से कागज और पेपरबोर्ड के उत्पादन के लिए किया जाता है.

Repersantive iamge-pixbay

खीरे के छिलकों सेे प्राप्त होने वाले सेल्युलोज के सूक्ष्म स्पटिकों का उपयोग खाद्य पैकेजिंग के रूप में किया जा सकता है. छिलके से बने पैकेजिंग खाद्य पदार्थ को लंबे समय तक खराब होने से बचा सकते हैं. इस पैकेजिंग से खाद्य पदार्थ में नमी भी नहीं पहुंचती है.

इस रिसर्चर से जुड़ी अध्यापक का कहना है कि लोग प्लास्टिक के पैकेजिंग से दूर होना चाहते हैं लेकिन बाजार में सही आॅप्शन नहीे मिलने के कारण उनको इस पर निर्भर रहना पड़ रहा है. खीरे के छिलके का प्रयोग भारत के लगभग सभी घरों में होता है. पेय पदार्थ से लेकर आचार तक खीरे से बनाए जाते हैं. इन छिलकों को लोग कूड़ा समझ कर फेंक देते हैं लेकिन ये प्रयोग सुनने के बाद शायद लोग इसे जमा करने लगेंगे.

ये छिलका जैव कचरा भी बनाता है, जिसमें सेल्यूलोज काफी मात्रा में होता है. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही बाजार में प्लास्टिक की जगह खीरे के छिलकों से बने पैकेजिंग प्रयोग में आ जाता है.

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -