Saturday, November 27, 2021
- Advertisement -

भारतीय छात्र ने दुनियाभर में रोशन किया भारत का नाम, बनाई दुनिया की सबसे हल्की फेम्टो सैटेलाइट और बन गए NASA के मिशन का हिस्सा

Must Read

देश की पहली एमबीए पास सरपंच है छवि, अपनी मेहनत से बदल दी गांव की सूरत

नई दिल्ली : हमने किताबो, किस्से कहानियों में ऐसी चीजे जरूर पढ़ी होगी जिसमे युवा ने कॉरपोरेट नौकरी (corporate...

आपकी लाइफ बदल देगा मिट्टी का ये ए. सी. , बिना बिजली और बिना खर्च के देता है ठंडक

नई दिल्ली : जिस तरह से गर्मी बढ़ती जा रही जा रही है एयर कंडीशनर का प्रयोग भी बढ़ता...

अंग्रेजी हुकूमत को चारों खाने चित्त कर दिया था बोरोलीन ने, आज भी बाजार में है इस क्रीम का दबदबा

बोरोलीन बाज़ार में एक जानी मानी एंटीसेप्टिक क्रीम की ब्रांड है। आज इतने वर्षों बाद भी बोरोलीन का बाज़ार...

भारत में आए दिन अनेकों चमत्कार होते रहते हैं कभी कोई गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराता है तो कोई अपनी शिक्षा से भारत का सम्मान दूसरे देशों में बढ़ाता है| आज ऐसा ही एक बार फिर हुआ है जिससे भारत का नाम दुनियाभर में रोशन हो गया है| आज भारतीय छात्र ने न सिर्फ किसी एक देश अपितु पूरे विश्व में भारत के तिरंगे का सम्मान बढ़ा दिया है|

instagram

आइए जानते है इस होनहार छात्र के बारें में

दुनियाभर में भारत का नाम ऊंचा करने वाले एस रियासदीन तमिलनाडु के रहने वाले हैं और इन्होंने दुनिया की सबसे हल्की फेम्टो सैटेलाइट बनाई है| आज रियासदीन ने अपने ज्ञान से भारत और अपने राज्य तमिलनाडु का नाम पूरे विश्व में रोशन कर दिया है| बता दें कि रियासदीन ने अंतरिक्ष वैश्विक डिज़ाइन प्रतियोगिता में क्यूब्स जीता है और साथ ही 30मिमी का दुनिया का सबसे हल्का फेम्टो सैटेलाइट vision SAT V1 और V2 बनाया है| इस सैटेलाइट में 33 ग्राम का पैलोड लगा हुआ है| इसे बनाने में रियासदीन ने 3D प्रिंटिंग तकनीक का इस्तेमाल किया है| इस प्रतियोगिता का संचालन NASA द्वारा किया गया था|

2021 में बनेंगे NASA के मिशन का हिस्सा

इस प्रतियोगिता में 73 देशों के 1 हज़ार बच्चों ने भाग लिया था| सैटेलाइट को 11 सेंसर और vision SAT V1 के साथ 17 मापदण्डों को मापने के लिए डिज़ाइन किया गया है| रियासदीन अब 2021 में SR-7 NASA के रॉकेट मिशन का हिस्सा भी बनने वाले हैं| तमिलनाडु के सीएम एडप्पादी के पलानीस्वामी ने भी रियासदीन को भारत का और तमिलनाडु का नाम विश्व स्तर पर रोशन करने के लिए बधाई दी हैं|

SASTRA ने भी रियासदीन को दी बधाई और 5 लाख रूपये

बता दें कि रियासदीन SASTRA के सेकंड इयर के छात्र हैं| रियासदीन के इस सराहनीय कार्य के लिए SASTRA के कुलपति ने भी रियासदीन को बधाई दी| साथ ही रियासदीन को SASTRA से सफल स्टार्ट अप शुरू करने के लिए 5 लाख रूपये भी दिये जाएंगे|

- Advertisement -

Latest News

देश की पहली एमबीए पास सरपंच है छवि, अपनी मेहनत से बदल दी गांव की सूरत

नई दिल्ली : हमने किताबो, किस्से कहानियों में ऐसी चीजे जरूर पढ़ी होगी जिसमे युवा ने कॉरपोरेट नौकरी (corporate...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -