Saturday, November 27, 2021
- Advertisement -

शादी के दिन IRTS अधिकारी ने बच्चों के लिए खोल दिया स्कूल, पढ़ाई होगी फ्री

Must Read

देश की पहली एमबीए पास सरपंच है छवि, अपनी मेहनत से बदल दी गांव की सूरत

नई दिल्ली : हमने किताबो, किस्से कहानियों में ऐसी चीजे जरूर पढ़ी होगी जिसमे युवा ने कॉरपोरेट नौकरी (corporate...

आपकी लाइफ बदल देगा मिट्टी का ये ए. सी. , बिना बिजली और बिना खर्च के देता है ठंडक

नई दिल्ली : जिस तरह से गर्मी बढ़ती जा रही जा रही है एयर कंडीशनर का प्रयोग भी बढ़ता...

अंग्रेजी हुकूमत को चारों खाने चित्त कर दिया था बोरोलीन ने, आज भी बाजार में है इस क्रीम का दबदबा

बोरोलीन बाज़ार में एक जानी मानी एंटीसेप्टिक क्रीम की ब्रांड है। आज इतने वर्षों बाद भी बोरोलीन का बाज़ार...

UPSCकी तैयारी करने वाले छात्रों से अगर आप पूछेंगे कि आप इस फील्ड में क्यों आना चाहते हैं ? तो उनका एक ही जवाब होगा कि, ‘ समाज की सेवा करने के लिए.’ प्रतियोगी छात्रों का कहना होता है कि आईएस या आईपीएस बनकर हम देश की सेवा अच्छे तरीके से कर सकता है. देश में सुधार लाने के लिए हमने इस फील्ड को चुना है. बहुत से छात्र सर्विस में आने के बाद अपना ये उद्ेश्य भूल जाते हैं. लेकिन कुछ प्रतियोगी छात्र अपने इस उद्ेश्य को नौकरी ज्वाइन करते ही पूरा कर लेते हैं. ऐसी ही कहानी है आईआरटीएस अधिकारी विजय कुमार की.

NBT

विजय कुमार देश के युवाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत बने हुए हैं. बिहार के गोपालगंज स्थित चक्ररधपुर में पोस्टेड विजय कुमार ने अपने शादी के दिन ऐसा काम किया है, जिसे सुनकर पूरे देश के लोग उनकी तारीफ़ कर रहे हैं. विजय ने 6 दिसंबर को यूपी सरकार में अस्सिटेंट पद पर तैनात नेहा त्रिवेदी से शादी की है. इनकी शादी एक खा़स वजह से चर्चा में बनी हुई है. नेहा और विजय ने मिलकर गरीब तबके के बच्चों की शिक्षा के लिए स्कूल खोला है. विजय ने बताया कि इस काम में संतोष कुमार आईएस और रंजन कुमार डिप्टी कमांडेंट के साथ मिलकर इन्होंने एआईएम नाम से एक स्कूल खोला है. इस स्कूल में गरीब बच्चों को फ्री में शिक्षा दी जाएगी. इस स्कूल से इलाके में कई बच्चों का भविष्य रोश्न हो जाएगा.

NBT

किसी कारण से पढ़ाई छूट जाने वाले बच्चों को भी इस स्कूल में दाखिला दिया जाएगा. ये पाठशाला सुबह 7 बजे से 9 बजे तक चलेगी. इस पाठशाला में किताबी ज्ञान के अलावा, करियर काउंसलिंग और सामान्य ज्ञान की शिक्षा दी जाएगी. कक्षा 1 से 10 तक के बच्चों को यहां फ्री में शिक्षा प्रदान की जाएगी. इस स्कूल में आईएस, आईपीएस और आईआरएस अधिकारी बच्चों को शिक्षित करेंगे. समाज से अज्ञानता को खत्म करके शिक्षा का दीपक जलाने वाले इन अधिकारियों को हमारा सलाम! देश में अगर सभी अधिकारीें सही रूप से समाज के लिए काम करें तो समाज की उन्नति संभव है.

- Advertisement -

Latest News

देश की पहली एमबीए पास सरपंच है छवि, अपनी मेहनत से बदल दी गांव की सूरत

नई दिल्ली : हमने किताबो, किस्से कहानियों में ऐसी चीजे जरूर पढ़ी होगी जिसमे युवा ने कॉरपोरेट नौकरी (corporate...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -