Thursday, April 22, 2021
- Advertisement -

पंजाब से निकलकर सिंधु बॉर्डर पहुंची मेडिकल टीम, अब किसानों के स्वास्थ्य का रखेंगे ध्यान

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

New Delhi: सिंधु बॉर्डर पर सिर्फ पुरुष किसान ही नहीं उनके साथ महिलाएं व छोटे-छोटे स्कूली बच्चे भी नए कृषि कानून के खिलाफ धरना दे रहे हैं। लगभग 25 दिन से सभी आंदोलनकारी इस सर्दी के महीने में सडक़ पर सोने को मजबूर हैं। ऐसे में उनके स्वास्थ्य पर कोई बुरा असर न पड़े, और वह स्वस्थ रहे, इसलिए पंजाब की मेडिकल टीम सिंधु बॉर्डर पहुंच गई है। यह मेडिकल टीम जब तक धरना जारी रहेगा, यहीं पर रहेंगे और महिलाओं व बच्चों के स्वास्थ्य का देखभाल करेंगी। खास बात यह है कि मेडिकल टीम में ज्यादातर महिलाएं ही हैं।

लुधियाना से पहुंची मेडिकल टीम
लुधियाना के अस्पताल में नर्स के रुप में कार्यरत हर्षदीप कौर ने बताया कि वह यहां पर किसानों को सपोर्ट करने के लिए आई हैं। और वह यहां पर सभी लोगों के स्वास्थ्य का ध्यान रखेंगी। सर्दी के मौसम में कई बार ठंड लगने से तबियत खराब हो जाती है. ऐसे में किसानों को स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें न आए। इसलिए यहां पर मौजूद मेडिकल टीम किसानों का ध्यान रखेगी।

बताया जा रहा है कि सिर्फ लुधियाना ही नहीं बल्कि पंजाब के दूसरे शहरों से भी मेडिकल की टीम पहुंची है। मेडिकल टीम ने रविवार को सिंधु बॉर्डर पर कई महिलाओं का बीपा, शुगर भी जांच किया है। वहीं अपने बीच डॉक्टरों की टीम देखकर आंदोलनकारी किसान भी खुश हैं।

किसानों ने कहा कि हमारी मांग जायज है. और आखिरी दम तक हम यह मांग को पूरी करवाकर ही मानेंगे। किसान कहते हैं कि लगभग एक महीना होने को आ रहा है. लेकिन देश के प्रधानमंत्री रकाबगंज गुरुद्वारे चले जाते हैं, पर उनके पास हमारे से मिलने का समय नहीं है। हमने क्या इसी दिन के लिए उन्हें देश की कुर्सी पर बिठाया था। सबका साथ-सबका विकास करने का मंत्र दिया था, उन्होंने इस कानून के साथ तो सिर्फ उद्योगपति का विकास होगा, हमारे लिए तो सिर्फ बर्बादी होगी।

 

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -