Friday, April 23, 2021
- Advertisement -

पति को छोड़ तीन बेटियों के साथ किसान आंदोलन में अहम भूमिका निभा रही परमजीत कौर , ऐसे रखती है किसानों का ध्यान

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

New Delhi: सिंधु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर सहित अन्य बॉर्डर पर किसान आंदोलन चल रहा है। लगभग 1 महीने से ज्यादा का वक्त बीत गया है। लेकिन अभी तक किसानों की मांग पूरी नहीं हो पाई हैं। हालांकि बीते एक माह में पांच बार केंद्र की मोदी सरकार के साथ किसान नेताओं की बातचीत हुई। फिर भी बीच का रास्ता नहीं निकल पाया है। बहरहाल, आज हम आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहे हैं, जो अपने पति को छोडक़र किसान आंदोलन में अपनी तीन बेटियों के साथ पहुंची हैं। इस महिला का नाम है परमजीत कौर।

किसानों की देखरेख कर रही परमजीत
परमजीत बताती हैं कि वह किसान आंदोलन में अपनी तीन बेटियों के साथ आई हैं। वह यहां पर मुख्य रुप से किसानों की देखरेख का काम कर रही हैं। वह बताती हैं कि वह सिंधु बॉर्डर पर टेंट सिटी में एनजीओ की तरफ से 150 टेंट लगे हैं। जिनकी निगरानी के लिए वह रात भर जागती हैं। जिससे इन टेंट में रहने वाले लोग सुरक्षित रह सके, और कोई असमाजिक तत्व हिस्सा न बने।

बुजुर्ग किसान के साथ बच्चों का ध्यान रखती हैं
परमजीत बताती हैं कि वह यहां पर बुजुर्ग किसानों के खानपान से लेकर उनकी दवाईयां का ध्यान रखती हैं, साथ ही प्रदर्शन में शामिल बच्चों का ख्याल रखती हैं।

आंदोलन के आखिर तक रहेंगी
परमजीत बताती हैं कि वह यहां पर तब तक रहेंगी, जब तक किसानों का आंदोलन चलेगा। वह बताती हैं कि उन्होंने इस आंदोलन के लिए अपना घर छोड़ा है। ऐसे में जब तक किसानों की मांग पूरी नहीं होती वह यहां से नहीं जाएंगी।

पति को घर पर छोड़ दिया
परमजीत बताती हैं कि उन्होंने किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए अपने पति को छोड़ दिया है। उन्होंने बताया कि पति घर पर रहकर खेतों की देखभाल कर रहे हैं। वह बताती हैं कि किसान परिवार में भले ही जन्म नहीं हुआ। लेकिन वह किसान की पत्नी है। इसलिए वह किसान आंदोलन का समर्थन करती हैं।

 

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -