Thursday, April 22, 2021
- Advertisement -

हिन्दी माध्यम से बिहार की रिचा ने पास की यूपीएससी परीक्षा, चार बार फेल भी हुई थी

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

New Delhi: हर साल यूपीएससी की परीक्षा देने के लिए लाखों छात्र फॉर्म भरते हैं। परीक्षा के तीन चरण को पार कर इन लाखों में से कुछ ही छात्र इस कठिन परीक्षा को पास कर पाते हैं। इस परीक्षा की खासबात यह है कि फेल होने के बाद भी छात्र एक बार फिर से मेहनत करना शुरु कर देते हैं। आपने कई बार सुना होगा कि कई छात्र पहले प्रयास में परीक्षा पास कर लेते हैं तो कई छात्र पांच से छह बार में परीक्षा पास करने में कामयाब होते हैं। ऐसे नहीं है कि जो पहले प्रयास में पास होते हैं वह ज्यादा टेलेंटेड होते हैं, बल्कि कुछ परेशानियां व दिक्कतें होती हैं, जिससे दूसरे छात्रों को इस परीक्षा को पास करने में थोड़ा ज्यादा वक्त लग जाता है। आज बात ऐसी ही एक छात्रा की, जिन्होंने पांचवी बार में यूपीएससी परीक्षा पास की, और आज आईएएस बन चुकी हैं। आइए जानते हैं

हिन्दी माध्यम से यूपीएससी परीक्षा पास की है।
बिहार के सिवान की रहने वाली रिचा रत्नम ने साल 2019 में यूपीएससी परीक्षा पास की है। खास बात यह है कि उन्होंने हिन्दी माध्यम में परीक्षा पास की है। हालांकि उन्हें हिन्दी माध्यम के कारण कई समस्याओं से होकर गुजरना पड़ा है।

हिन्दी क्यों बनती हैं चुनौती
बिहार की रिचा ने अन्य छात्रों की तुलना में परीक्षा का माध्यम हिन्दी चुना था। जो कि अंग्रेजी की तुलना में काफी कठिन था। क्योंकि हिन्दी के छात्रों के लिए साक्षात्कार के लिए मार्केट में स्टडी मटेरियल कम होता है। जिससे परेशानी होती है। रिचा के साथ भी कुछ ऐसा ही था

चार बार रही असफल
बिहार की रिचा ने यूपीएससी परीक्षा में चार बार असफल रही हैं। हालांकि उन्होंने इसके बाद प्रयास करना नहीं छोड़ा, वह लगातार प्रयास करती रही, आखिरकार उन्होंने पांचवे प्रयास में परीक्षा पास कर ली।

क्या कहती हैं रिचा
रिचा बताती हैं कि वह दिल्ली में इंजीनियरिंग की छात्रा रही है। उन्होंने बीटेक में डिग्री ली है। इसी दौरान उन्हें यूपीएससी परीक्षा की तैयारी शुरु कर दी। वह बताती हैं कि उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा हिन्दी में की है। 10वीं हिन्दी माध्यम व 12वीं अंग्रेजी माध्यम से की। वह बताती हैं कि उन्होंने दोनों माध्यम का अनुभव लिया है। वह बताती हैं कि वह हिन्दी माध्यम से परीक्षा देने वाली थी, इसलिए उन्होंने अंग्रेजी के नोट को अपनी भाषा में लिखे थे। वह बताती हैं कि रोजाना एक-एक घंटा भी पढ़ाई की जाए तो प्रथम चरण को पास किया जा सकता है।

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -