Sunday, May 16, 2021
- Advertisement -

40 हज़ार की नौकरी छोड़कर करने लगे खेती, आज उसी खेती से कमा रहे हैं सालाना 1.5 करोड़ रूपये

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

एक किसान अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए और उनका भविष्य बनाने के लिए अपनी जी-जान लगा देता है| ताकि उसके बच्चे किसी अच्छी कंपनी में नौकरी कर सके और अपना भविष्य बना सके| क्यूंकि माना जाता है कि कृषि क्षेत्र में ज्यादा कमाई नहीं होती और समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है| लेकिन असल में कमाई हर क्षेत्र में की जा सकती है, बस आपको उस क्षेत्र का भली-भांति ज्ञान होना चाहिए और कुछ अच्छा करने का संकल्प भी आपके साथ होना चाहिए|

आज हम आपको ऐसे ही व्यक्ति के बारें में बताने जा रहे हैं जिसने अपनी 40,000 की अच्छी-ख़ासी नौकरी छोड़कर खेती को सर्वोपरि रखा और खेती करने लगे| अपनी मेहनत और लगन से उन्होंने अपनी अंजीर की खेती को एक नई उचाइयों तक पहुंचा दिया है और अब लोगों को भी खेती के प्रति संदेश दे रहे हैं| आज उनके इस प्रयास के चर्चे जगह-जगह हो रहे हैं और लोग उनके इस प्रयास को खूब सरहा रहे हैं| आइए जानते है इनके बारें में|

कहानी समीर डॉम्बे और उनकी मेहनत की

जानकारी के मुताबिक समीर डॉम्बे महाराष्ट्र में दौंड के रहने वाले हैं और देश का भविष्य है, यानि समीर देश के युवा हैं| आमतौर पर एक युवा यही चाहता है कि वह पढ़ लिखकर एक अच्छी और बड़ी कंपनी में नौकरी करे, लेकिन समीर की सोच इन सबसे बिल्कुल अलग है| समीर एक बड़ी कॉर्पोरेट कंपनी में अच्छा-खासा कमा रहे थे, लेकिन उन्होंने अपने देश के सबसे मेहनती क्षेत्र में जाने का फैसला लिया|

शुरुआत में परिवार वालों ने नहीं दिया साथ

2013 में समीर ने पुणे की कॉर्पोरेट कंपनी से नौकरी छोड़ने का फैसला किया| लेकिन उनके परिवार ने उनका साथ नहीं दिया| क्यूंकि खेती में अनिश्चितता के कारण वह नहीं चाहते थे कि समीर इस क्षेत्र में आए| लेकिन समीर को खुद पर विश्वास था, और कुछ समय बाद परिवार का समर्थन भी समीर को मिलने लगा| परिवार का समर्थन मिलने के बाद समीर के इरादे और  बुलंद हो गए|

अंजीर की खेती से बनाया अपना भविष्य

समीर के परिवार में दो पीढ़ियों से अंजीर की खेती हो रही है और इसी परंपरा को समीर भी आगे बढ़ा रहे हैं| अंजीर की खेती की समीर को बहुत अच्छी समझ थी इसलिए वह इसमें पूरी मेहनत कर रहे थे| वह अंजीर की खेती के साथ साथ प्रोसेसिंग पर भी ध्यान दे रहे थे| उन्होंने अंजीर की खेती सबसे पहले 2.5 एकड़ में करना शुरू किया, साथ ही साथ समीर ने अंजीर की प्रोसेसिंग पर भी अपना ध्यान केन्द्रित रखा|

सुपर मार्केट में भी समीर की अंजीर का जादू सबके सर चढ़कर बोल रहा था

समीर अपनी अंजीर को एक किलो के पैकेट में पैक करके बाज़ार में बेचते थे| एक बार उनके एक दोस्त ने कहा कि उन्हें एक बार सुपर मार्केट में भी अपना हाथ डालना चाहिए| उन्होंने ऐसा ही किया और सुपर मार्केट से भी उन्हें खूब अच्छी प्रतिक्रिया मिली| समीर ने अपनी ब्रांड का नाम “पवित्रक” रखा और तीन जगहों पर भी डिलीवरी करना शुरू कर दिया| पैकेजिंग में फोन नंबर होने के कारण ग्राहक समीर से सीधा संपर्क कर पाते हैं और ग्राहक सीधा उन्हें ही ऑर्डर भी दे पाते हैं|

कोरोना काल में भी की कमाई

आज समीर इस खेती से सालाना 1.5 करोड़ रुपये कमा रहे हैं, साथ ही आज समीर की अंजीर पुणे, मुंबई, बंगलौर और दिल्ली जैसे बड़े शहरों में बेचे जा रहे हैं| कोरोना काल में भी समीर ने whatsapp के माध्यम से 13 लाख रुपये कमाए थे| आज जिस अंजीर का बिज़नस समीर ने 2.5 एकड़ के खेत से शुरू किया था आज वह 5 एकड़ कर दिया गया है| साथ ही समीर ने खाद्य प्रसंस्करण यूनिट की स्थापना भी की है|

कृषि क्षेत्र को सुव्यवस्थित करने की आवश्यकता: समीर

समीर ने एक साक्षात्कार में कहा कि दो पीढ़ियों से किसान के बच्चों ने आय के लिए पढ़ाई करके निजी क्षेत्रों में अपना योगदान दिया है जिसके कारण कृषि क्षेत्र असंगठित हो चुका है जिसे अब सुव्यवस्थित करने की जरूरत है| उन्होंने कहा कि किसानों के बच्चे पढ़कर निजी क्षेत्रों के लिए मुनाफा कमाते हैं और कृषि में वापस नहीं आते, जिससे कृषि क्षेत्र में किसी भी तरह का बदलाव नहीं आ पाता| लेकिन अब बदलाव लाना ही होगा|

 

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -