Saturday, November 27, 2021
- Advertisement -

अपने पिता से 200 डॉलर उधार लेकर इस शख्स ने शुरू किया था बिजनेस, अंबानी से भी दौलतमंद बन गए थे ये

Must Read

देश की पहली एमबीए पास सरपंच है छवि, अपनी मेहनत से बदल दी गांव की सूरत

नई दिल्ली : हमने किताबो, किस्से कहानियों में ऐसी चीजे जरूर पढ़ी होगी जिसमे युवा ने कॉरपोरेट नौकरी (corporate...

आपकी लाइफ बदल देगा मिट्टी का ये ए. सी. , बिना बिजली और बिना खर्च के देता है ठंडक

नई दिल्ली : जिस तरह से गर्मी बढ़ती जा रही जा रही है एयर कंडीशनर का प्रयोग भी बढ़ता...

अंग्रेजी हुकूमत को चारों खाने चित्त कर दिया था बोरोलीन ने, आज भी बाजार में है इस क्रीम का दबदबा

बोरोलीन बाज़ार में एक जानी मानी एंटीसेप्टिक क्रीम की ब्रांड है। आज इतने वर्षों बाद भी बोरोलीन का बाज़ार...
Sanjay Kapoorhttps://citymailnews.com
Sanjay kapoor is a chief editor of citymail media group

आज हम आपको एक ऐसे आदमी की कहानी बता रहे हैं, जिन्होंने अपने पिता से 200 डॉलर उधार लेकर अपना कारोबार शुरू किया था। देखते ही देखते उधार के पैसों से शुरू हुआ यह व्यापार चारों ओर फैल गया और आज यह कंपनी देश की सबसे बड़ी दवा बनाने वाली कंपनी बन गई है। हम बात कर रहे हैं सन फार्मा कंपनी के मालिक दिलीप संघवी की। दिलीप संघवी ने वर्ष 1983 में अपने पिता से यह रकम उधार लेकर मनोरोग दवा बनाने का काम शुरू किया था। उनके पिता भी दावाओं का ही काम किया करते थे। पिता के काम को देखते हुए ही दिलीप ने दवा बनाने का काम शुरू किया और तरक्की की एक नई ईबारत लिखी।
संघवी की कुल संपत्ति 84 हजार करोड़ है
दिलीप संघवी की कुल संपत्ति आज 84 हजार करोड़ रुपए की है। वर्ष 2020 में दिलीप संघवी की कुल संपत्ति में 17 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। हैरान करने वाली बात तो यह है कि अपने पिता से उधार की राशि लेकर अपने कारोबार की शुरूआत करने वाले दिलीप संघवी ने कुछ सालों पहले देश के अरबपतियों की सूची में शामिल मुकेश अंबानी को भी पीछे छोडक़र उनसे अधिक दौलत अर्जित कर ली थी। हालांकि इस समय मुकेश अंबानी की दौलत 76 बिलियन डॉलर यानि कि 5.70 लाख करोड़ रुपए है।
दुनिया की चौथी सबसे बड़ी कंपनी है सन फार्मा
पंरतु दूसरी ओर दिलीप संघवी की सन फार्मा कंपनी की बात की जाए तो यह कंपनी आज दुनिया की चौथी सबसे बड़ी जेनरिक दवाएं बनानी वाली कंपनी है। वर्ष 2015 में दिलीप संघवी की इस कंपनी ने रिलांयस प्रमुख मुकेश अंबानी को संपत्ति के मामले में पीछे छोड़ दिया था। मार्च 2019 में दिलीप संघवी की सन फार्मा ने 4.1 बिलियन डॉलर की सपंत्ति बनाते हुए भारत की सबसे बड़ी फार्मा कंपनी बनने में सफल रही थी।

अन्य क्षेत्रों में भी किया है निवेश
पिछले 6 महीनों में इस कंपनी की ग्रोथ की बात की जाए तो सन फार्मा के शेयर में जोरदार तरीके से इजाफा हुआ है। इस कंपनी के शेयर में 60 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। सन फार्मा अब दवाओं के अलावा और क्षेत्रों में भी अपना नेटवर्क फैला रही है। दिलीप संघवी ने अब एनर्जी, नेचुरल गैस और ऑयल इंडस्ट्री के क्षेत्र में भी बहुत बड़ा निवेश किया है। इससे सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि किसी भी क्षेत्र में अदभुत तरीके से किया गया काम सफलता अवश्य दिलाता है।

- Advertisement -

Latest News

देश की पहली एमबीए पास सरपंच है छवि, अपनी मेहनत से बदल दी गांव की सूरत

नई दिल्ली : हमने किताबो, किस्से कहानियों में ऐसी चीजे जरूर पढ़ी होगी जिसमे युवा ने कॉरपोरेट नौकरी (corporate...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -