Saturday, November 27, 2021
- Advertisement -

एयरपोर्ट पर एक कूड़ेदान से मिली ढाई करोड़ की पेंटिंग, फोटो हुई वायरल

Must Read

देश की पहली एमबीए पास सरपंच है छवि, अपनी मेहनत से बदल दी गांव की सूरत

नई दिल्ली : हमने किताबो, किस्से कहानियों में ऐसी चीजे जरूर पढ़ी होगी जिसमे युवा ने कॉरपोरेट नौकरी (corporate...

आपकी लाइफ बदल देगा मिट्टी का ये ए. सी. , बिना बिजली और बिना खर्च के देता है ठंडक

नई दिल्ली : जिस तरह से गर्मी बढ़ती जा रही जा रही है एयर कंडीशनर का प्रयोग भी बढ़ता...

अंग्रेजी हुकूमत को चारों खाने चित्त कर दिया था बोरोलीन ने, आज भी बाजार में है इस क्रीम का दबदबा

बोरोलीन बाज़ार में एक जानी मानी एंटीसेप्टिक क्रीम की ब्रांड है। आज इतने वर्षों बाद भी बोरोलीन का बाज़ार...

New Delhi: कूड़ेदान में तो कचरा फेंका जाता है, कोई ढाई करोड़ की पेंटिंग को कैसे फेंक सकता है। यह सवाल इसलिए उठता है, क्योंकि एक एयरपोर्ट पर लगे कूड़ेदान के बॉक्स से पुलिस कर्मियों को ढाई करोड़ की पेंटिंग मिली है। दरअसल, जर्मनी के एक एयरपोर्ट पर एक यात्री की गलती से उसका कीमती पेंटिंग एयरपोर्ट पर ही छुट गया। इस यात्री का नाम है यवेस टंगू, जो फ्रांसीसी डॉक्टर के साथ मेडिकल के विद्वान हैं।

aaj tak

 

इसके बाद एयरपोर्ट की साफ-सफाई करने वाले लोगों ने पेंटिंग को कचरा समझ कर उसे कूड़ेदान में फेंक दिया। इसके बाद जब फ्रांसीसी डॉक्टर को पता चला तो वह दंग रह गया। क्योंकि वह इजराइल पहुंच चुके थे। उन्होंने वहां पहुंचते ही पश्चिमी जर्मन शहर डसेलडोर्फ में पुलिस से संपर्क किया। साथ ही पेंटिंग को वापस लेने व इससे संबंधित कई ईमेल भी भेजे। लेकिन पेंटिंग नहीं मिली। इस खबर को पाकर फ्रांसीसी काफी परेशान हुआ।

aaj tak


भतीजे की मदद लाई रंग
जिसकी पेंटिंग खोई थी, उस कारोबारी के भतीजे ने पेंटिंग को ढूंढऩे की पूरी कोशिश की। वह अपने शहर बेल्जियम से यात्रा करने के बाद सीधे उसी एयरपोर्ट पर जा पहुंचा, जहां वह पेंटिंग खोई थी। वहां उसने पेंटिंग को ढूंढऩे की काफी कोशिश की। पर उसे भी पेंटिंग नहीं मिली। इसके बाद उसने स्थानीय पुलिस थाने में शिकायत दी। जिसके बाद यह मामला एयरपोर्ट थाने के इंस्पेक्टर माइकल डिटज के पास पहुंचा और उन्होंने पेंटिंग ढूंढऩे के लिए कार्रवाई करना शुरु कर दिया। इस दौरान अफसर ने एयरपोर्ट के सभी जगह की अच्छे से तलाशी ली। फिर एयरपोर्ट की साफ-सफाई करने वाली एजेंसी को बुलाया गया। वहीं एयरपोर्ट परिसर में मौजूद सभी रीसाइक्लिंग कंटेनरों को खंगालना शुरु किया गया। जिसके बाद कचरे से पेंटिंग को प्राप्त किया गया। हालांकि पेंटिंग को थोड़ा नुकसान जरूर हुआ है।

 

- Advertisement -

Latest News

देश की पहली एमबीए पास सरपंच है छवि, अपनी मेहनत से बदल दी गांव की सूरत

नई दिल्ली : हमने किताबो, किस्से कहानियों में ऐसी चीजे जरूर पढ़ी होगी जिसमे युवा ने कॉरपोरेट नौकरी (corporate...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -