Saturday, November 27, 2021
- Advertisement -

मानवता:तालाब में घोंसला बनाने के लिए लडक़े ने की बतख की मदद , दिल छू लेगा वीडियो

Must Read

देश की पहली एमबीए पास सरपंच है छवि, अपनी मेहनत से बदल दी गांव की सूरत

नई दिल्ली : हमने किताबो, किस्से कहानियों में ऐसी चीजे जरूर पढ़ी होगी जिसमे युवा ने कॉरपोरेट नौकरी (corporate...

आपकी लाइफ बदल देगा मिट्टी का ये ए. सी. , बिना बिजली और बिना खर्च के देता है ठंडक

नई दिल्ली : जिस तरह से गर्मी बढ़ती जा रही जा रही है एयर कंडीशनर का प्रयोग भी बढ़ता...

अंग्रेजी हुकूमत को चारों खाने चित्त कर दिया था बोरोलीन ने, आज भी बाजार में है इस क्रीम का दबदबा

बोरोलीन बाज़ार में एक जानी मानी एंटीसेप्टिक क्रीम की ब्रांड है। आज इतने वर्षों बाद भी बोरोलीन का बाज़ार...

New Delhi: प्यार है ही ऐसी चीज, जो एक को दूसरे और दूसरे को तीसरे से जोड़ देती है। प्यार की भाषा ऐसी होती है कि इंसान तो इंसान जंगलों में रहने वाले वन्यजीव भी समझ लेते हैं। दरअसल, सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें एक तालाब पर घोंसला बनाने के लिए एक लडक़ा दूसरे बतख की मदद कर रहा है। लडक़ा तालाब के किनारे से छोटी-छोटी टहनियां बतख को दे रहा है और वह बतख मुंह में टहनी लिए दूसरे बतख को दे रही है।बतख और लडक़े बीच का चल रहा यह संवाद सोशल मीडिया पर लोगों को काफी लुभा रहा है। बताते चले कि इस वीडियो को आईएफएस अधिकारी सुशांत नंदा ने शेयर किया है। इस वीडियो को अब तक सैकड़ों की तदाद में लोगों ने देखा है। आप भी यह वीडियो देखिए।

आपने देखा कि इस वीडियो में एक लडक़ा तालाब के ऊपर दिख रही बतख को देता है, बतख लडक़े से टहनी लेकर दूसरे बतख को देती है, जो पानी के ऊपर घोंसला बनाने का काम कर रही है। 33 सेकेंड के इस वीडियो ने लोगों के दिल को छू लिया है। सुशांत नंदा अकसर वन्यजीवों से जुड़ी कुछ न कुछ अलग तरह की वीडियो पोस्ट करते हैं, नंदा वीडियो के जरिए लोगों को महत्वपूर्ण संदेश भी देते हैं।

image tweeted by susanta nanda

लोगों ने दी अपनी प्रतिक्रिया
सोशल मीडिया पर अपनी राय रखते हुए एक यूजर लिखते हैं कि हमें समाज में इस तरह के लडक़े की काफी जरूरत है। वहीं दूसरे यूजर लिखते हैं कि वन्यजीवों को भी जीने का अधिकार है। तीसरे यूजर लिखते हैं कि लडक़े के द्वारा बेहद ही अच्छा कार्य किया गया है। अगर हम किसी को सहारा नहीं दे सकते तो हमें किसी का सहारा छीनने की कोशिश भी नहीं करनी चाहिए। एक यूजर लिखते हैं कि अच्छी बात यह है कि लडक़े की भाषा को बतख ने समझा, और मदद ली। इसे देखना काफी अच्छा रहा है।

- Advertisement -

Latest News

देश की पहली एमबीए पास सरपंच है छवि, अपनी मेहनत से बदल दी गांव की सूरत

नई दिल्ली : हमने किताबो, किस्से कहानियों में ऐसी चीजे जरूर पढ़ी होगी जिसमे युवा ने कॉरपोरेट नौकरी (corporate...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -