Friday, April 23, 2021
- Advertisement -

कभी करनी पड़ी थी गार्ड की नौकरी, छुप-छुपकर सीखा काम आज हैं करोड़ों की कंपनी के मालिक

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

कहते हैं कि यदि आप किसी कार्य को करने की, उसे सीखने की ठान लें तो कोई भी कार्य मुश्किल होते हुए भी आसान हो जाता है| किसी भी कार्य को सीखने की ललक ही आपको उस कार्य में दक्ष बनाती है| आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से एक ऐसी ही शख्सियत से मिलाने जा रहे हैं जिनका जीवन उपर्युक्त वाक्यों से मिलता हुआ है| इस शख्स की सीखने की ललक ने ही इन्हें करोड़ों की कंपनी का मालिक बना दिया है|

आइए जानते हैं बिमल मजुमदार के बारे में

बिमल मजुमदार वर्तमान में एक कंपनी के मालिक हैं, बिमल का एक कंपनी का मालिक होना बेशक आपको आम बात लगे परंतु जब आप बिमल के संघर्ष को जानेंगे तो उनकी यह सफलता शायद आपको आम न लगे| गरीबी से जूझते हुए बिमल का इस मुकाम तक पहुंचने का कारण सिर्फ- और सिर्फ उनकी कड़ी मेहनत है|

महज 37 रूपये लेकर निकले थे घर से, करनी पड़ी थी सेक्युर्टी गार्ड की नौकरी

दरअसल बिमल बहुत ही गरीब परिवार से थे| अपने परिवार को सहारा देने के लिए बिमल महज 16 साल की उम्र में गाँव से कोलकाता आकर रहने लगे और छोटे-मोटे काम करने लगे, जिसके कारण उनकी पढ़ाई भी छूट गई और पढ़ाई छोड़ने की वजह से बिमल के पिता भी उनसे नाराज़ हो गए| जिस समय बिमल घर से निकले थे उनके पास महज 37 रूपये थे| उसके बाद वह अपने दोस्त के पास रहने लगे और जगह-जगह जैसे मिठाई की दुकान, सेक्युर्टी गार्ड की नौकरी करने लगे|

इस बीच आया एक ऐसा मोड़ जिसने बिमल की ज़िंदगी को बदल दिया

बता दें कि मिठाई की दुकान में काम करते हुए बिमल को छत पर बोरियाँ बिछाकर सोना पड़ता था| इसी बीच बिमल के पिता का निधन हो गया, इस वाक्य ने बिमल को अंदर से झकझोर कर रख दिया था| लेकिन बिमल ने खुद को संभाला और एक लेदर फैक्ट्री में सेक्युर्टी गार्ड की नौकरी करना शुरू कर दिया| बिमल सुबह नौकरी करते थे और रात में छुप-छुपकर वह मशीन वर्क सीखते थे| उनके सीखने की इसी ललक ने उन्हें सफलता के इस मुकाम तक पहुंचा दिया|

आज कमाते हैं करोड़ों में

कुछ समय बाद बिमल ने लेदर फैक्ट्री में काम करना शुरू कर दिया और वह छोटे-छोटे ऑर्डर भी लेने लगे| लेकिन लोगों ने उनपर विश्वास नहीं किया| वह बताते हैं कि जब वह सैंपल दिखाते थे तो लोग उसे चोरी का समान समझते थे| लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी| उसके बाद उनकी मुलाक़ात खादिम के मालिक से हुई और उन्होंने बिमल की मेहनत को देखते हुए उन्हें 2 लाख रूपये का ऑर्डर दे दिया| धीरे-धीरे बिमल आगे बढ़ते गए और 2012 में बिमल ने “लेदर जंक्शन” के नाम से खुद की कंपनी खोली जिसका पिछले साल का टर्नओवर लगभग 3 करोड़ रूपये था| इस कंपनी में बिमल जूते छोड़कर लेदर का हर उत्पाद बनाते हैं|

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -