Tuesday, April 20, 2021
- Advertisement -

बिना कसूर 18 साल तक पाक जेल में सड़ती रही हसीना,पासपोर्ट गुम होने पर कर लिया था गिरफ्तार

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

एक महिला की ऐसी दुखभरी कहानी,जिसे सुनकर आपके रौंगटे खड़े हो सकते हैं। यह महिला अपने रिश्तेदारों से मिलने पाकिस्तान क्या गई कि उसकी किस्मत ने उसे धोखा दे दिया। 18 साल तक बिना किसी कसूर के वह पाकिस्तान की जेल में सड़ती रही। चाहकर भी कोई उसकी मदद नहीं कर पा रहा था। पाकिस्तान में यातनाएं सहने के बाद जब यह महिला अपने वतन लौटी तो उसकी उम्र बुढापे में बदल चुकी थी। यह कहानी है 65 साल की हसीना बेगम की, जोकि वर्ष 2002 में अपने रिश्तेदारों से मिलने के लिए पाकिस्तान गई थी।

पासपोर्ट गुम हुआ और कर लिया गिरफ्तार

हसीना बेगम की किस्मत देखो कि पाकिस्तान जाकर उनका पासपोर्ट अचानक गुम हो गया। इसके बाद पाकिस्तान पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया और जेल की सलाखों के पीछे डाल दिया। हालांकि हसीना बेगम के परिवार व रिश्तेदारों ने लाख कोशिश की और पुलिस को समझाने का प्रयास किया कि वह गलत इरादे से पाकिस्तान नहीं आई है। पासपोर्ट गुम होने की वजह से यह दिक्कत पेश आई है। मगर पाक पुलिस ने किसी भी दलील को नहीं माना। इस तरह से हसीना बेगम बिना किसी कसूर के भी जेल में सड़ती रही। उसे वहां तमाम यातनाओं से भी गुजरना पड़ा।

अदालत के आदेश पर हुई जांच

आखिरकार पाकिस्तान की एक अदालत ने हसीना बेगम की दर्द भरी पुकार सुनी। हसीना की सारी दलील सुनने के बाद अदालत ने पाकिस्तान पुलिस को आदेश दिया कि उनके मामले की जांच की जाए। अदालत के आदेश पर पाकिस्तान पुलिस ने भारत को हसीना बेगम की सारी जानकारी भेजी और उसके बारे में जानकारी उपलब्ध करवाने के लिए कहा। भारत स्थित औंरगाबाद पुलिस ने अपनी जांच कर पाकिस्तान को बताया कि हसीना बेगम भारतीय नागरिक है, वहां उसके अपने नाम से एक घर भी पंजीकृत है। इसके अलावा भी हसीना बेगम को लेकर कई जानकारियां पाकिस्तान को भेजी गई।

18 साल बाद हुई वतन वापिसी

भारत द्वारा उपलब्ध करवाई गई जानकारी के बाद आखिरकार 18 साल बाद यह तय हो पाया कि हसीना बेगम निर्दोष है और हकीकत में उसका पासपोर्ट गुम हो गया था, जिसकी वजह से वह जेल की सलाखों में पड़ी हुई सड़ रही थी। इसके बाद 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के अवसर पर हसीना बेगम को पाक जेल से रिहा गया।

हसीना का किया गया स्वागत

वहां से आने के बाद हसीना ने भारत सरकार और औंरगाबाद पुलिस का आभार भी जताया। हसीना बेगम का उत्तर प्रदेश निवासी दिलशाद अहमद से निकाह हुआ था। बता दें कि हसीना बेगम औंरगाबाद सिटी चौक थाना क्षेत्र के तहत आने वाले राशिदपुरा मौहल्ले की रहने वाली हैं। भारत आकर उन्होंने चैन की सांस की और अपनी व्यथा सुनाकर सभी को भावुक कर दिया। वतन वापिसी पर स्थानीय प्रशासन और पुलिस ने हसीना बेगम को फूल देकर उनका स्वागत किया।

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -