Sunday, January 17, 2021
- Advertisement -

4 जनवरी को नहीं बनी बात तो 26 जनवरी को दिल्ली में ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे किसान

Must Read

होने से पहले ही टूट गई रतन टाटा और एलन मस्क की पार्टनरशिप, टाटा मोटर्स ने ये खुलासा कर चौंका दिया

भारत में दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क की इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी भारत में आने से...

कैसे बना जाए IAS , क्या है UPSC की तैयारी के टिप्स, बता रही हैं चर्चित IAS अधिकारी टीना डाबी

देश भर में यूपीएससी में टॉप करने के बाद आईएएस बनीं टीना डाबी अधिकांश चर्चाओं में रहती हैं। चाहे...

सबसे अधिक जमीन खरीदकर अमेरिका के नंबर-1 किसान बनें बिल गेटस, इतनी जमीन खरीदकर बनाया रिकार्ड

दुनिया के चौथे अमीर शख्स बिल गेटस ने अपने नाम एक और बड़ा रिकार्ड बना लिया है। वह अमेरिका...

New Delhi: किसान आंदोलन को 30 दिन से ज्यादा का समय हो गया है। सिंधु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर सहित अन्य बॉर्डर पर किसान आंदोलन के समर्थन में देशभर से किसान डटे हुए हैं। किसान कह रहे हैं कि दिल्ली में लगातार मौसम बिगड़ रहा है। रात को तेज ठंडी हवाएं चल रही हैं, फिर भी देश के प्रधानमंत्री को हमारी फिक्र नहीं है। अगर होती तो वह नए कृषि कानून को रदद कर देते। बताते चले कि किसान आंदोलन के दौरान बीते दिन पहले एक प्रदर्शनकारी की मौत भी हुई है। ऐसे में किसानों ने ऐलान कर दिया है कि अगर 4 जनवरी को बात नहीं बनी तो वह ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे।

क्या है 4 जनवरी को
केंद्र की मोदी सरकार ने किसान नेताओं को एक बार फिर मिलने के लिए बुलाया है। 4 जनवरी को विज्ञान भवन में एक बार फिर किसान नेताओं के साथ बैठक होगी। जहां एक तरफ मोदी सरकार किसानों का मनाने का प्रयास करेगी। वहीं किसान नेता की कोशिश होगी कि इस बिल को रद्द करवाया जाए।

नहीं बनी बात तो उग्र होगा प्रदर्शन
प्राप्त जानकारी के अनुसार सिंधु बॉर्डर पर शनिवार को एक प्रैस वार्ता के दौरान किसान नेताओं ने कहा कि 4 जनवरी को बैठक होनी है। इसके बाद पांच जनवरी के दिन सुप्रीम कोर्ट में भी कृषि कानून को लेकर सुनवाई होनी है। अगर बात नहीं बनी तो देशभर में किसान आंदोलन उग्र रुप लेगा।

26 जनवरी के दिन दिल्ली में घुसेेंगे
26 जनवरी यानि की गणतंत्र दिवस। इस दिन किसान नेताओं ने दिल्ली में ट्रैक्टर मार्च निकालने का ऐलान कर दिया है। किसान नेताओं ने कहा कि राजपथ पर ट्रैक्टर मार्च निकाला जाएगा। स्वराज आंदोलन के नेता योगेंद्र यादव ने कहा कि 25 जनवरी तक हमारी मांगे नहीं मानी गई तो 26 जनवरी के दिल्ली में घुसकर गणतंत्र परेड करने पर मजबूर हो जाएंगे।

23 जनवरी को यहां पर देंगे धरना
योगेंद्र यादव ने कहा कि 23 जनवरी को सुभाषचंद्र बोस की जयंती पर आजाद हिंद किसान दिवस मनाएंगे। और सभी राज्यों के राजभवन के बाहर धरना प्रदर्शन करेंगे।

 

- Advertisement -

Latest News

होने से पहले ही टूट गई रतन टाटा और एलन मस्क की पार्टनरशिप, टाटा मोटर्स ने ये खुलासा कर चौंका दिया

भारत में दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क की इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी भारत में आने से...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -