Friday, April 23, 2021
- Advertisement -

जिस ज़िले में पिता हैं कॉन्सटेबल उसी ज़िले में बेटे ने हासिल किया SP का पद, गौरवान्वित पिता ने SP बेटे को किया सलाम

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

किसी भी माँ-बाप के लिए वह पल बहुत ही बड़ा और अमूल्य होता है जब उन्हें उनके बच्चों के नाम से जाना जाता है| हर माँ-बाप का एक ही सपना होता है कि उनका बच्चा खूब नाम कमाए और सफलता को हासिल कर अपने भविष्य को सुरक्षित करे| आज कहानी एक ऐसे शख्स की जिसने अपने पिता का सीना गर्व से चौड़ा कर दिया| आज इस शख्स के पिता इन्हें सलाम करते हुए गौरवान्वित महसूस करते हैं|

आइए जानते हैं आईपीएस अधिकारी अनूप के बारे में

अनूप कुमार सिंह एक IPS अधिकारी हैं| वह उन्नाव में पुलिस अधीक्षक के पद पर तैनात थे| लेकिन हाल ही में उनका तबादला लखनऊ में कर दिया गया है| यह वही ज़िला है जहां अनूप के पिता भी कॉन्सटेबल के पद पर तैनात है| अनूप और उनके पिता के लिए यह बहुत बड़ी बात है कि जिस ज़िले में अनूप के पिता कॉन्सटेबल हैं उसी ज़िले का सबसे बड़ा अधिकारी उनका बेटा है|

अच्छी कमाई न होने के बावजूद भी बेटे को खूब-पढ़ाया लिखाया

बता दें कि अनूप के पिता जनार्दन की कमाई अच्छी नहीं थी| उन्हें कम वेतन ही मिलता था| इसके बावजूद भी जनार्दन ने अपने पुत्र अनूप की पढ़ाई से कभी समझौता नहीं किया| एक साक्षात्कार में अनूप बताते हैं कि उनके पिता की कमाई अच्छी न होने के बावजूद भी उन्हें कभी कॉपी किताब या फीस के लिए जद्दोजहद नहीं करनी पड़ी| उनके पिता कड़ी मेहनत कर उनकी हर जरूरत को पूरा करते थे|

बेटे ने IPS बन, किया पिता का सीना गर्व से चौड़ा

अनूप ने आज IPS बन अपने पिता का नाम रोशन कर दिया है साथ ही उन्हें गौरवान्वित भी किया है| जब जनार्दन को पता चला कि जिस ज़िले में वह कॉन्सटेबल हैं उस ज़िले का सबसे बड़ा अधिकारी उनका बेटा है तो उनकी खुशी का कोई ठिकाना नहीं था| वर्तमान में पिता और पुत्र दोनों अपने फर्ज़ को बखूबी निभा रहे हैं| बेशक उनका पिता और बेटे का रिश्ता है लेकिन इस बात का असर वह अपने काम पर कभी नहीं पड़ने देते हैं| आज अनूप के पिता अनूप को सलाम करते हैं और उन्हें सलाम करते हुए उनका सीना फ़क्र से चौड़ा हो जाता है|

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -