Thursday, January 21, 2021
- Advertisement -

भारतीय सेना ने दिखाई मानवता, पाकिस्तान से भटक कर आए बच्चे को दिए गिफ्ट, सुरक्षित घर भेजा

Must Read

400 कैंसर योद्धा बच्चों की पढ़ाई को जारी रखने के लिए दिए गए टैबलेट, CankidsKidscan ने की सराहनीय पहल

वर्तमान में कोरोना महामारी के चलते सभी शिक्षण संस्था अथवा स्कूल बंद हैं| स्कूल के साथ-साथ कैनशाला भी कोरोना...

दुनिया की सबसे ऊंची चोटी से जमा किए गए कचरे को कला में बदलेगा नेपाल, माउंट एवरेस्ट के कचरे से बनेगी आर्ट गैलरी

हाल ही में माउंट एवरेस्ट अपनी ऊंचाई बढ़ने को लेकर काफी चर्चाओं में रहा| लेकिन अब एक बार फिर...

8 बार स्वर्ण पदक हासिल कर रोशन किया माता-पिता का नाम, आज करती हैं देश के क़ानूनों की रखवाली

वर्तमान समय में लड़कियां किसी से कम नहीं हैं, इस वाक्य को महिलाओं ने अपने कारनामों से साबित कर...
Sanjay Kapoorhttps://citymailnews.com
Sanjay kapoor is a chief editor of citymail media group

भारत और पाकिस्तान पर अधिकांश समय गोली और गोला बारूद चलने की खबरें अब आम बात हो गई हैं। सीमा के इलाके में आतंकी हरकतों की वजह से सेना का हर रोज उनसे सामना होने की खबरें आप जरूर देखते या पढ़ते होंगे। मगर हाल ही में भारत की सीमा से एक सुखद और मानवीय खबर देखने को मिल रही है। कुछ दिनों पहले पाकिस्तान के हिस्से वाले कश्मीर से एक छोटा सा बच्चा भूलवश सीमा को पार करते हुए भारत में आ गया।

सेना ने बच्चे को ठंड से बचाया

जैसे ही सेना के जवानों के इस बच्चे को देखा तो उन्होंने उसे अपने पास बिठा लिया। बच्चे से प्यार से पूछताछ की गई और उसकी पूरी जांच पड़ताल करने के बाद यह पाया कि वाकई में बच्चा गलती से एलओसी पार करके उनकी सरहद में आ गया है। सेना के जवानों ने इस 12 वर्षीय बच्चे को प्यार और दुलार से खाना खिलाया और चाकलेट भी दी। इसके बाद हैदर नाम के इस बच्चे को सेना के जवानो ने ठंड से बचाने के लिए कपड़े दिए।

हैदर ने की सेना की तारीफ

बच्चे का पूरा ख्याल रखा गया और फिर दूसरी ओर सेना के संपर्क को बच्चे को वापिस पाकिस्तान भेज दिया गया। इस अच्छे व्यवहार की हैदर ने तारीफ की और कहा कि भारतीय सेना के लोग बहुत अच्छे हैं। भारतीय सेना ने जब हैदर को वापिस सीमा के दूसरी ओर भेजा तो उसे बहुत सारे गिफ्ट और चाकलेट भी दी गई। बताया गया है कि यह बच्चा पूरी तरह से सुरक्षित होकर अपने घर पहुंच गया है। ऐसी ही एक और खबर से भी आपको रूबरू करवाएंगे, जिससे पता चलता है कि सीमा पर केवल गोलियां ही नहीं चलती, बल्कि सेना के जवान पाकिस्तान से भटककर आने वालों की सहायता भी करते हैं।

इन नाबालिग पाक बच्चियों को भी घर भेजा

इसी प्रकार से हैदर की तरह से ही दो नाबालिग लड़कियां भी भूलवश पाकिस्तान से भारतीय सीमा में घुस आई थीं। भारतीय सेना ने दोनों बहनों को हिरासत में ले लिया था। यह घटना पुंछ इलाके की है। पंरतु दोनों पाकिस्तानी बहनों से पूछताछ के बाद सेना नेे अगले ही दिन दोनों को वापिस पाकिस्तान के हवाले कर दिया। दोनों बहनों ने भारतीय सेना की जमकर तारीफ की थी और कहा था कि उन्हें डर था कि सेना के जवान उन्हें मारेंगे पीटेंगे, परंतु उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया और उनके साथ अच्छा व्यवहार किया गया। दोनों बहनों ने कहा कि भारतीय सेना का धन्यवाद करती हैं।

- Advertisement -

Latest News

400 कैंसर योद्धा बच्चों की पढ़ाई को जारी रखने के लिए दिए गए टैबलेट, CankidsKidscan ने की सराहनीय पहल

वर्तमान में कोरोना महामारी के चलते सभी शिक्षण संस्था अथवा स्कूल बंद हैं| स्कूल के साथ-साथ कैनशाला भी कोरोना...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -