Tuesday, April 20, 2021
- Advertisement -

12 साल तक की इंजीनियर की नौकरी, फिर शुरू किया अपना डेयरी बिजनेस, आज कमा रहे हैं करोड़ों रुपए

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

दुर्लभ रावत उस शख्स का नाम है, जिन्होंने इंजीनियरिंग में डिप्लोमा हासिल किया और फिर रूटीन में नौकरी करने लगे। मगर उन्हें इस नौकरी में मजा नहीं आ रहा था। वह चाहते थे कि अपना खुद का काम करूं, जिसमें वह कोई भी निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र हों। इसी सोच के साथ उन्होंने नौकरी छोड़ दी। मूलरूप से यूपी के गौतमबुद्ध नगर के रहने वाले दुर्लभ आज अपने डेयरी व्यवसाय से ही करोड़ों रुपए कमा रहे हैं। इस पॉजीटिव को खबर बताने का मकसद केवल यह है कि जो लोग अपने बिजनेस में हताशा का माहौल देख रहे हैं, वह भी ऐसी खबरों के बाद अपना नया हौंसला बना सकें।

bhaskar

दुर्लभ रावत ने 12 साल तक नौकरी की और फिर उसे छोडक़र 2016 में खुद की डेयरी शुरू कर दी। हालांकि नया और चुनौती पूर्ण काम करना आसान नहीं था। लेकिन उन्होंने अपना जज्बा दिखाया और 50 पशुओं के साथ अपना डेयरी फार्म खोल दिया। हालांकि शुरू में उन्होंने अपना दूध पास की डेयरी मेें सप्लाई किया, मगर उसमें उन्हेें मुनाफा नहीं हुआ। तब उन्हें किसी दोस्त ने अपना ब्रांड तैयार करने की सलाह दी। यह उन्हें पसंद आया और बोतल के जरिए लोगों को दूध पहुंचाने की शुरूआत कर दी। उनका यह आईडिया काम कर गया और उनके ग्राहक बनने लगे।

स्कूल के बाहर खड़े होकर बनाए ग्राहक
दुर्लभ ने खुद की ऐप के जरिए भी प्रचार करते हुए अपने ग्राहकों का नेटवर्क तैयार किया। इसके अलावा वह स्कूलों के बाहर बच्चों के माता पिता से मिलकर उन्हें अपने प्रोडेक्ट की जानकारी देते। इस तरह से धीरे धीरे उनके ग्राहक बढऩे लगे और उनका अपना प्रोडेक्ट बाजार में दिखाई देने लगा। दुर्लभ के अनुसार एक बार उन्होंने त्यौहार पर अपने ग्राहकों को गुड भेजा, जोकि उन्हेें पसंद आया। इसके बाद लोग उनसे ऐसे प्रोडेक्ट भी मांगने लगे। तब दुर्लभ ने कई और किचन प्रोडेक्ट भी शुरू कर दिए।

55 लोगों की टीम जुड़ी है दुर्लभ के साथ
दुर्लभ रावत बताते हैं कि आज उनके साथ 55 लोगों की टीम काम कर रही हैं। इनमें से 35 लोग केवल डिलीवरी का काम करते हैं। इसके अलावा 15 किसानों से भी उनका जुड़ाव है, जोकि बेहतर उत्पादन बनाकर उन्हें देते हैं। जिसे पैक कर वह अपने ग्राहकों तक पहुंचाते हैं। इस तरह से दुर्लभ ने 1800 घरों में दूध की सप्लाई का नेटवर्क तैयार कर लिया है। उनके सात हजार से भी अधिक ग्राहक हैं, जो उनके उत्पाद पर पूरा भरोसा करते हैं। उनका सामान आज दिल्ली, मुंबई और नोएडा सहित कई शहरों में जा रहा है। उनके डेयरी प्रोडेक्ट का टर्न ओवर आज ढाई करोड़ से भी अधिक पहुंच चुका है।

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -