Thursday, January 21, 2021
- Advertisement -

छत से टपकता था बरसाती पानी, टीचर ने अपने पैसों से करवा दी मरम्मत, बना दिया स्कूल को खूबसूरत

Must Read

400 कैंसर योद्धा बच्चों की पढ़ाई को जारी रखने के लिए दिए गए टैबलेट, CankidsKidscan ने की सराहनीय पहल

वर्तमान में कोरोना महामारी के चलते सभी शिक्षण संस्था अथवा स्कूल बंद हैं| स्कूल के साथ-साथ कैनशाला भी कोरोना...

दुनिया की सबसे ऊंची चोटी से जमा किए गए कचरे को कला में बदलेगा नेपाल, माउंट एवरेस्ट के कचरे से बनेगी आर्ट गैलरी

हाल ही में माउंट एवरेस्ट अपनी ऊंचाई बढ़ने को लेकर काफी चर्चाओं में रहा| लेकिन अब एक बार फिर...

8 बार स्वर्ण पदक हासिल कर रोशन किया माता-पिता का नाम, आज करती हैं देश के क़ानूनों की रखवाली

वर्तमान समय में लड़कियां किसी से कम नहीं हैं, इस वाक्य को महिलाओं ने अपने कारनामों से साबित कर...
Sanjay Kapoorhttps://citymailnews.com
Sanjay kapoor is a chief editor of citymail media group

पिछले दिनों उत्तराखंड के एक टीचर की कहानी को आपके सामने लाए थे। इस टीचर ने ग्रामीण अंचल में स्थित स्कूल को अपनी मेहनत और जज्बे से प्राईवेट स्कूलों से भी बेहतर बनाकर दिखाया था। आज इस स्टोरी में हम आपको तमिलनाडू के एक दूरदराज गांव के स्कूल में पढ़ाने वाली टीचर द्वारा किए गए शानदार कार्य से अवगत करवाएंगे। इस टीचर ने अपने पैसों से बदहाल स्कूल को खूबसूरत बनाकर बच्चों के सामने एक मिसाल पेश करके दिखाई।

The New Indian Express

छोटे से गांव में है ये स्कूल

ये स्कूल तमिलनाडू के दूरदराज स्थित एक छोटे से गांव कुर्लकोलिकई में स्थित है। इस स्कूल की हैड मिस्टर्स एन पूनकोडी कायर्रत है। 20 बच्चों वाले इस स्कूल की छत पिछले काफी समय टपक रही थी। इस वजह से बच्चों का पढऩे मे खासी दिक्कत आ रही थी। बरसात के हर मौसम में स्कूल का इसी तरह से बुरा हाल रहता था। हैड मिस्टर्स ने इस समस्या से जिला अधिकारियों को अवगत करवाया। इस पर उन्हें एक लाख रुपए की राशि मिली जिससे छत तो ठीक हो गई, मगर स्कूल की हालत बदहाल ही रही।

अपने पास से खर्च किए 30 हजार रुपए

यह देखकर टीचर ने अपने पास से 30 हजार रुपए लगाकर स्कूल की रिपेयरिंग करवाई और दीवारों पर खूबसूरत पेटिंग बनवा दी। इसके बाद जहां स्कूल की खूबसूरती पूरी तरह से बदल गई, वहीं बच्चों की समस्या का भी स्थाई तौर पर समाधान हो गया। इस तरह से स्कूल में पचास किलोमीटर दूर से आने वाली इस टीचर ने दीवारों पर अंग्रेजी और तमिल भाषा में कई ज्ञानवर्धक व रोचक शब्द लिखवा दिए। कई नेताओं की तस्वीरें भी स्कूल में बनवाई गई। जिसके बाद बदहाल हो चुका यह स्कूल पूरी तरह से बदल गया।

- Advertisement -

Latest News

400 कैंसर योद्धा बच्चों की पढ़ाई को जारी रखने के लिए दिए गए टैबलेट, CankidsKidscan ने की सराहनीय पहल

वर्तमान में कोरोना महामारी के चलते सभी शिक्षण संस्था अथवा स्कूल बंद हैं| स्कूल के साथ-साथ कैनशाला भी कोरोना...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -