Saturday, February 27, 2021
- Advertisement -

हैरान करने वाला मामला, खुद को जिंदा साबित करने के लिए सरकारी दफ्तर के चक्कर काट रहा है 85 साल का ये बुजुर्ग

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...
Sanjay Kapoorhttps://citymailnews.com
Sanjay kapoor is a chief editor of citymail media group

अब तक आपने फिल्मों में ही देखा होगा, किस तरह से कोई व्यक्ति अफसरशाही की लापरवाही से जीवित होते हुए भी मरा हुआ साबित कर दिया जाता है। मगर हकीकत में वह जिंदा होता है। पूरी जिदंगी वह केवल इसके लिए संघर्ष करता रहता है कि वह जिंदा है, मगर सरकारी कागजों में उसे यह साबित करने के लिए दिन रात एक करना पड़ता है। मगर हकीकत में भी एक ऐसी घटना ने सरकार व प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगा दिए हैं।

बुजुर्ग श्याम बिहारी जिंदा होने के लिए काट रहा है चक्कर

यह कहानी है एक ऐसे बुजुर्ग की , जो हकीकत में तो जिंदा है, मगर सरकारी कागजों में उसे मरा हुआ घोषित कर दिया गया है। इस बुजुर्ग का नाम है श्याम बिहारी, जोकि उत्तर प्रदेश के गौंडा का निवासी है। फिलहाल श्याम बिहारी के पास केवल एक ही काम है कि वह खुद को जिंदा साबित करने के लिए दिन भर सरकारी दफ्तरों के चक्कर काटता है और शाम को वापिस अपने घर लौट जाता है।

हर रोज शुरू होता है ये सिलसिला

अगले दिन फिर से उसका यही सिलसिला शुरू होता है, लोग अक्सर उन्हें केवल इसी काम के लिए विकास भवन में मशक्कत करते हुए देखते हैं। हैरत की बात है कि प्रशासन की इस गफलत के चक्कर में उसकी वृद्ध अवस्था के तहत मिलने वाली पेंशन भी रोक दी गई है। बुजुर्ग श्याम बिहारी गौंडा के पंडरी कृपाल ब्लाक के मंडरेवा कला के गांव के रहने वाले हैं। 85 साल की उम्र में उनके पास केवल एक ही काम बचा है कि वह किसी तरह से खुद को जिंदा साबित करवा लें। इसके बाद उनकी पेंशन बहाल हो जाए और वह अपना खर्चा चला सकें।

सुनिए क्या कहते हैं अधिकारी महोदय

यह मामला मीडिया में सामने आने के बाद जिला समाज कल्याण अधिकारी भी हरकत में आ गए हैं। उनका कहना है कि वह इस पूरे प्रकरण की जांच करवा रहे हैं। जिस भी कर्मचारी ने ऐसा किया है, जल्द ही जांच में सामने आ जाएगा। दोषी कर्मचारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि भूल सुधार का काम किया जा रहा है। जल्द ही बुजुर्ग की पेंशन बहाल करवा दी जाएगी। इस खबर को देखने के बाद सच में यह अहसास होता है कि एक छोटे से कर्मचारी की छोटी से गलती किसी व्यक्ति के लिए जीवन मरण का प्रशन बन जाती है।

 

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -