Tuesday, April 20, 2021
- Advertisement -

इन महिला पायलटों ने रचा इतिहास, देश को है इन पर गर्व, कर दिखाया अजूबा और भरी हौंसलों की उड़ान

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...
Sanjay Kapoorhttps://citymailnews.com
Sanjay kapoor is a chief editor of citymail media group

एयर इंडिया की इन जांबाज महिला पायलटों ने ऐसा अजूबा कर दिखाया है कि आज पूरे देश को इन पर नाज है। इन सभी ने अपने हौंसलों की उड़ान भरते हुए एक ऐसी ऐतिहासिक व कठिन यात्रा पूरी कर दिखाई है जो एयर इंडिया के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखी गई है। एयर इंडिया की इन महिला पायलटों ने सैन फ्रास्सिको से पहली बार एयर इंडिया की उड़ान भरकर बेंगलूरू में लंैड कर दिखाई और वह भी ऐसे कठिन रास्तों से ,जिसे दुनिया का सबसे खतरनाक रास्ता माना जाता है।

Twitter/hardeep singh puri

न बेटियों ने किया देश का नाम रोशन

इस आधुनिक युग में आज भी कई लोग अपना वंश आगे बढ़ाने के लिए बेटा ही पैदा हो, ऐसी कामना करते हैं। उस युग में इन बेटियों ने ना केवल अपने परिवार बल्कि अपने देश का नाम रोशन कर दिखाया है। इन होनहार बेटियों ने दुनिया की सबसे लंबे हवाई रूट पर विमान चलाकर जहां इतिहास रच दिया है, वहीं भारत देश के लिए भी यह बड़े गर्व की बात है।

कैप्टन जोया है इस बेटी का नाम

इस बेटी का नाम है जोया अग्रवाल, जोकि भारतीय विमान कंपनी एयर इंडिया की कैप्टन हैं। जोया ने हाल ही में एक बड़ी चुनौती को अपने हाथ में लिया है। उन्हें दुनिया के सबसे लंबे व खतरनाक हवाई रूट पर एयर इंडिया के विमान को उड़ाने की चुनौती मिली है, जिसे उन्होंने हंसते हुए स्वीकार भी किया है।

Twitter/hardeep singh puri

दुनिया के सबसे खतरनाक रूट की मिली चुनौती

जोया को एयर इंडिया ने दुनिया के सबसे लंबे व खतरनाक हवाई रूट नॉर्थ पोल को फतेह करने की चुनौती दी थी। इसे स्वीकार करते हुए जोया ने अपनी महिला पायलटों की टीम के साथ स्वीकार कर लिया। उनकी इस टीम में कैप्टन थनमई पपागड़ी, आकांक्षा सोनवणे और शिवानी मन्हास शामिल हैं। इन सभी को एयर इंडिया ने जिम्मेदारी सौंपी कि उन्हें बोईंग-777 को लेकर पोलर रूट से सैन फै्रंसिस्को से बैंगलुरू लाना होगा। बता दें कि एयर इंडिया ने 16000 किलोमीटर के इस सफर के लिए इन महिलाओं पर विश्वास जताया, जिसे इन सभी ने ना केवल स्वीकार किया, बल्कि उसे सफलता पूर्वक करके दिखा भी दिया।

अनुभव पायलट ही चला सकते हैं विमान

इंडियन एयरलाईंस ही नहीं बल्कि सभी एयरलाईन इस रूट पर अपने सबसे अनुभवी और मेहनती पायलटों का चयन करती हैं। जोया अग्रवाल ने बताया कि एयर इंडिया ने इस चुनौती पूर्ण कार्य के लिए उन्हें व उनके साथ इन सभी महिला पायलटों का चयन किया। वह सभी आज इस फैसले से खुद को सम्मानित महसूस कर रही हैं और उनकी सभी साथी पायलट इससे खुद को गौरांविन्त महसूस कर रही हैं। सभी बेहद ही उत्साहित भी हैं, उनके अनुसार दुनिया में बहुत से लोग नार्थ पोल का नक्शा भी नहीं देख पाते हैं, जबकि वह इस रूट पर उड़ान भर रहे हैं।

महिलाओं में है हौंसला तो कोई राह मुश्किल नहीं

कैप्टन जोया सहित सभी महिला पायलटों का कहना है कि यह उड़ान उनके लिए बेहद ही रोमांच से भरी है। उत्तरी ध्रुव से गुजर रहे हैं और विमान 180 डिग्री तक घुमेगा, यह वास्तव में उनके लिए बेहद ही आकर्षक थ। इसके बावजूद उन्होंने इस चुनौती को बिना डरे और घबराए पूरा कर दिखाया है। बता दें कि जोया इससे पहले वर्ष 2013 में बोईंग-777 उड़ाने वाली देश की सबसे युवा महिला पायलट का खिताब अपने नाम कर चुकी हैं। उनके अनुसार महिलाओं में आत्मविश्वास होना चाहिए, तब वह किसी भी बड़ी चुनौती को स्वीकार कर सकती हैं। महिलाएं किसी भी काम को मुश्किल ना मानें और अपने आत्मविश्वास के बल पर उसे आसानी से पूरा करें।

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -