Sunday, April 18, 2021
- Advertisement -

इंजीनियरिंग के दो स्टुडेंस ने अपनी सूझबूझ से मात्र 1500 रुपए में खड़ी कर दी 2.5 करोड़ की कंपनी

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

एनआईटी कुरूक्षेत्र के फाईनल ईयर में पढऩे वाले दो युवाओं ने अपनी कार्य कुशलता व सूझबूझ का परिचय देते हुए ढाई करोड़ रुपए की एक कंपनी खड़ी कर दी। इन दोनों की उम्र 21 और 22 साल है, मगर जज्बा और हौंसला किसी भी बड़े उद्योगपति से कम नहीं है। यह कहानी है फरीदाबाद के रहने वाले ऋषभ गर्ग और लकी रोहिल्ला की। लकी और ऋषभ जब इंजीनियरिंग थर्ड ईयर में थे, तब उन्होंने एक नया काम करने का निर्णय लिया। 2020 में इन दोनों ने एक नए स्टार्टअप शुरू कर quantel.in नाम से एक वेबसाईट तैयार की। इस नए स्टार्टअप के जरिए ऋषभ और लकी कॉलेज में पढऩे वाले स्टुडेंटस की बहुत सी समस्याओं का हल करना चाहते थे।

वेबसाईट बनाकर किया कारनामा

इसके चलते उनके द्वारा तैयार की गई वेबसाईट में दोनों ने अपनी जेब से 1500 रुपए का निवेश किया। इसके लिए उन्होंने वेबसाईट को चलाने वाली होस्टिंग परचेज की। कंपनी का पंजीकरण और छोटे मोटे काम उन्होंने अपनी जेब खर्च से किया। इस तरह से दोनों ने अपने नए स्टार्टअप की नींव डाली। ऋषभ और लकी ने अपनी वेबसाईट के जरिए उन स्टूडेंटस को गाईड करने का काम किया, जोकि 12वीं और ग्रेजुएशन के बाद अपने कैरियर को लेकर दुविधा में रहते हैं। इस वेबसाईट पर इंटर्नशिप और नौकरी को लेकर विकट समस्या का समाधान करने का तरीका निकाला गया।

danik bhaskar

हर क्षेत्र के एक्सपर्ट हैं शामिल

ऋषभ और लकी ने बताया कि वेबसाईट के लिए हर तरह के इंडस्ट्री एक्सपर्ट से बात कर सामने आने वाली परेशानियों का समाधान निकाला। वेबसाईट में इन एक्सपर्ट की सहभागिता की गई, ताकि कोई भी स्टूडेंटस और नौकरी के लिए भटकने वाला युवक उनसे बात कर अपनी समस्या का हल ढूंढ सके। ऋषभ और लकी ने इस प्लेटफार्म पर अलग अलग क्षेत्र की कई इंडस्ट्री को लिस्ट किया। ताकि स्टूडेंट इन कंपनियों की प्रोफाईल देखकर उनसे बात कर सकें। इसके लिए 30 से 40 मिनट का एक टाईम निर्धारित किया गया, जिसमें लोग उनसे हर बात की जानकारी हासिल कर सकें।

200 रुपए शुल्क से की शुरूआत

इसका शुल्क कम से कम 200 रुपए और अधिकतम 600 रुपए तय किया गया। ऋषभ का कहना है कि यह शुल्क बाजार में किसी भी कंपनी से कम है। इस स्टार्टअप की पहुंच 10000 स्टूडेंस तक हो चुकी है। इन दोनों की मेहनत के चलते आज उनकी कंपनी को 15 लाख का निवेश भी हासिल हो चुका है, साथ ही उनके साथ 23 लोगों की एक टीम काम कर रही है। हैरत की बात है कि इस कंपनी में काम करने वालों की उम्र 22 साल से अधिक नहीं है।

ढाई करोड़ रुपए पहुंची मार्केट वैल्यू

लकी और ऋषभ का कहना है कि एक साल के भीतर ही उनकी अथक मेहनत और सूझबूझ के बाद इस कंपनी की मार्केट वैल्यू 2.5 करोड़ रुपए तक पहुंच गई है। वह कहते हैं कि उन्हें स्टार्टअप बेस्ड कोई भी मूवी या फिर कहानी बहुत ही प्रेरित करती है। ओयो के संस्थापक रितेश अग्रवाल की पूरी कहानी व काम करने के तौर तरीकों से भी उन्हें बहुत प्रेरणा मिली है।

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -