Friday, April 23, 2021
- Advertisement -

भाई की शादी के दिन हुए फेल, मगर नहीं मानी हार, विजय ने 5वीं बार में UPSC टॉप कर बनें शानदार IAS अफसर

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

अपने जीवन काल में ये शख्स करीब 35 बार फेल हुए। यहां तक कि जिस दिन उनके भाई की शादी थी, ठीक उस दिन जब उनका रिजल्ट आया तो पूरे घर में कोहराम मच गया था। इसके बावजूद उन्होंने हार नहीं मानी और लगातार अपनी मंजिल को पाने के लिए कोशिश करते रहे। ये कहानी है हरियाणा के विजय वर्धन की, जोकि यूपीएससी पास करने के चक्कर में लगातार फेल होते गए। मगर जब उन्होंने हार नहीं मानी तो अंत में कुदरत को उनके सामने हथियार डालने पड़े। जी-हां हरियाणा के हिसार जिले के रहने वाले विजय की कहानी बेहद ही रोचक है।

screengrab youtube delhi knowledge track


विजय की हिम्मत के सामने कुदरत ने टेके घुटने
विजय बार बार फेल होते रहे और फिर भी कोशिश और मेहनत करते रहे। जब कुदरत ने देखा कि वह हार मानने को तैयार नही है, तब अंत में विजय को विजयश्री का सेहरा पहनाना ही पड़ा। विजय ने यूपीएससी परीक्षा पास कर आईएएस अधिकारी बनने की ठानी हुई थी। इसके लिए उन्होंने लगातार पांच बार परीक्षा दी, मगर पहले चार प्रयासों में वह फेल रहे। यहां तक कि जिस दिन उनके भाई की शादी थी, ठीक उसी दिन उनका यूपीएससी का रिजल्ट आया। वह इस बार भी फेल हो गए थे। घर में खुशी के दिन मातम का माहौल छा गया। मगर विजय ने इस मुबारक मौके को भी अपनी फेलियर की भेंट नहीं चढऩे दिया और अपने भाई की शादी को एक बड़े जश्न के रूप में मनाया।


ऊपर से हंसते रहे, दिल रोता रहा
इस दिन भी विजय हंसते हुए भाई की शादी की सभी तैयारियों में बढ़ चढक़र हिस्सा लेते रहे। हालांकि भीतर से उनका दिल बहुत दुखी भी था। मगर उन्होंने फिर भी अपनी खुशी के सामने अपनी हार को हावी नहीं होने दिया। पंरतु एक दिन ऐसा भी आया, जब विजय ने यूपीएससी में 104 वीं रैंक लेकर टॉप कर दिखाया। ऐसा उनके पांचवें प्रयास में हुआ। जब कुदरत ने भी देख लिया कि यह युवक किसी भी सूरत में हारकर बैठने वालों में से नहीं है तो उसकी सामने खुद ने घुटने टेक दिए।


कई परीक्षाओं में फेल हो चुके थे विजय
हालांकि इससे पहले विजय ने स्टेट पीसीएस, रेलवे, एनटीपीसी, एसएससी, सीजीएल जैसी ना जानें कितनी ही परीक्षाएं दी, मगर किसी में भी उन्हें सफलता नहीं मिली। इसके बाद उन्होंने यूपीएससी करने की ठानी और अंतत: एक दिन इस कठिन व असंभव परीक्षा को टॉप करके आईएएस अधिकारी बनकर दिखाया।


लगता था भगवान उनकी परीक्षा ले रहे हैं
दिल्ली नॉलेज टे्रक को दिए इंटरव्यू में विजय वर्धन ने अपनी आपबीती शेयर की। उन्होंने कहा कि वह जब भी कोई परीक्षा देते, हर जगह फेल होते। ऐसा लग रहा था कि भगवान उनकी कोई बड़ी परीक्षा ले रहे हैं। मगर वह पीछे नहीं रहे और लगातार आगे बढ़ते रहे। इस बीच कई लोग उन्हें अपनी ओर से सलाह देते और वह उन्हें सुनते भी थे। मगर करते अपने मन की थी। यही वजह है कि एक दिन उन्होंने यूपीएससी टॉप कर इतिहास बना दिया। पांचवे प्रयास के दौरान कई लोगों को उन्हें अटेम्प देने के लिए मना किया था। मगर उन्होंने किसी की एक ना सुनी और इसी अटेम्प्ट में चुने गए। इसलिए उनकी उन सभी लोगों को सलाह है जो यूपीएससी करना चाहते हैं कि सुनो सभी की मगर करो अपने मन की।


विजय ने दी बेहतरीन सलाह
विजय ने यूपीएससी की तैयारी कर रहे लोगों को सलाह दी है कि पिछले साल के प्रश्न पत्र को अपनी तैयारी में शामिल कर लें। उन्हें पढ़ें और सिलेबस को अच्छी तरह से याद कर लें। इसके अनुसार ही अपनी तैयारी करें। फेल होने से घबराएं नहीं, चाहे कितनी बार ही असफल हो जाएं, मगर अपने ऊपर विश्वास रखें। खुद को कभी भी किसी से कम ना आंके। वह कहते हैं कि सफलता से पहले मिलने वाली असफलता आपको कई अनुभव देगी। जिदंगी का सबसे सुनहरा पाठ सिखाएगी। लोग चाहे आपको कितने भी ताने क्यों ना मारें, मगर किसी की परवाह ना करें और लगातार अपनी मंजिल की ओर बढ़ते जाएं। एक दिन सफलता आपके कदम जरूर चूमेगी।

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -