Monday, April 19, 2021
- Advertisement -

आंध्रप्रदेश के एक शिक्षक का हुआ तबादला तो गाँव वालों ने दी अनोखी फेयरवल, शिक्षक के पैर धोकर दी शानदार विदाई

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

किसी भी विद्यार्थी के जीवन में शिक्षक का अधिक महत्व होता है, क्यूंकि शिक्षक ही विद्यार्थियों को सही मार्ग दिखाता है और उनके भविष्य को संवारता है| विद्यार्थी जीवन में शिक्षक ही वह शख्स होता है जिससे विद्यार्थियों को सबसे ज्यादा सीखने का अवसर मिलता है| आज हम आपको एक ऐसे ही शिक्षक के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने अपने शिक्षक धर्म को बखूबी निभाया और सभी के प्रिय बन गए| साथ ही गाँव वालों का शिक्षक के प्रति प्यार और सम्मान भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है|

Twitter/M V Rao IAS

आंध्रप्रदेश के एक सरकारी स्कूल के हैडमास्टर हैं नरेंद्र

हाल ही में सोशल मीडिया पर आंध्रप्रदेश के एक शिक्षक का विडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें गाँव वाले शिक्षक को अनोखी फेयरवल देते हुए नज़र आ रहे हैं| यह शिक्षक और कोई नहीं बल्कि नरेंद्र गोवडु है| नरेंद्र आंध्रप्रदेस्श के विजयनगरम जिले में एक सरकारी स्कूल के हैडमास्टर हैं, साथ ही गाँव वालों के बहुत ही प्रिय शिक्षक हैं|

गाँव वालों ने दी पैर धोकर विदाई

दरअसल हाल ही में नरेंद्र का किसी दूसरे स्कूल में तबादला हो गया है| जिसके चलते जब इस स्कूल में नरेंद्र का आखिरी दिन था तब सभी गाँव वालों ने मिलकर उन्हें एक अनोखी और शानदार विदाई दी| जिसमें गाँव वालों ने नरेंद्र के सम्मान में हल्दी वाले पानी से उनके पैर धोए और उन्हें कंधों पर बैठाकर खूब डांस किया| इसी के साथ-साथ गाँव वालों ने भोज का भी आयोजन किया|

हर सुख-दुख में दिया गाँव वालों का साथ

पिछले 10 सालों से नरेंद्र इस स्कूल में शिक्षा प्रदान कर रहे हैं| वह 20 किलोमीटर की लंबी यात्रा को तय कर इस स्कूल में पढ़ाने आते हैं| लेकिन वह शिक्षा प्रदान करने के साथ-साथ इंसानियत के नाते सभी गाँव वालों की भी मदद करते हैं| चाहे सुख हो या फिर दुख नरेंद्र हमेशा गाँव वालों का साथ देते हैं| साथ ही वह बच्चों को पाठ्यक्रम के अलावा भी अन्य कई महत्वपूर्ण जानकारियां देते हैं और उन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार करते हैं|

गाँव वालों का प्यार देखकर बहुत खुश हूँ: नरेंद्र

एक साक्षात्कार में नरेंद्र ने बताया कि वह गाँव वालों के प्यार को देखकर बहुत खुश हैं| वह बताते हैं कि गाँव वालों ने जो मेरे लिए किया उसे देखकर ऐसा लगता है जैसे कोई त्योहार मनाया गया हो| इस तोहफे को नरेंद्र अपने जीवन का सबसे बेहतरीन और अमूल्य तोहफा बताते हैं| नरेंद्र की इस अनोखी विदाई का विडियो सोशल मीडिया पर भी तेजी से वायरल हो रहा है|

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -