Thursday, April 22, 2021
- Advertisement -

मंदार बने सिविल सर्विस के एकलव्य, पहली बार में ही बिना गुरू के सेल्फ स्टडी से पास की परीक्षा, बने IAS

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

यूपीएससी परीक्षा में छात्र काफी मेहनत करते हैं। कई बार उनकी मेहनत सफल होती है। वहीं कई बार वह मंजिल के करीब आकर भी रह जाते हैं। लेकिन इनमें ऐसे छात्र भी होते है जो पहली बार ही अपने लक्ष्य को हासिल कर लेते है। इसके लिए वह कोचिंग भी नहीं लेते हैं। ऐसे छात्रों में मंदार पत्की का नाम शामिल है। जिन्होंने अपनी मेहनत से पहली बार भी सिविल सर्विस का सफर तय कर लिया।

Twitter/Mandar patki

ग्रेजुएशन  के बाद शुरू की यूपीएससी की तैयारी

मंदार जयंतराव महाराष्ट्र के छोटे से गांव से आते हैं। सिविल सर्विस में किस्मत आजमाने से पहले उन्होंनें मैकेनिकल इंजीनियरिंग से डिप्लोमा किया। इसके साथ उन्होंने ग्रेजुएशन की। ग्रेजुएशन करने के बाद उन्होंने सिविल सर्विस की तैयारी शुरू की। उन्होंने पहली बार में ही न केवल परीक्षा पास की। बल्कि आल इंडिया रैंक 22 लाए। उन्होंने कहा यह सब सेल्फ स्टडी के भरोसे भी संभव हो पाया। वह किसी भी कोचिंग पर निर्भर नहीं रहे।

बैकग्राउंड से नहीं पड़ता कोई प्रभाव

मंदार कहते है कि तैयारी करने वाले छात्रों के मन में असमंजस की स्थिति बनी रहती है कि वह विज्ञान और हिस्ट्री के बैक ग्राउंड से नहीं आते है। इसलिए उनकी परीक्षा अच्छी नहीं होगी। जबकि यूपीएससी को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है कि आप किस बैक ग्राउंड से आते हो। आपको केवल मेहनत करनी होती है। अच्छी रणनीति बनाकर बेहतर तैयारी करिए। आपको एक दिन सफलता जरूर मिलेगी।

सीमित किताबों पर ही रखे अपना फोकस

वह कहते है कि सीमित किताबों पर ही अपना फोकस रखना चाहिए। उन्हेें बार बार रिवाइज करना चाहिए। अगर आप सोचेंगे कि अधिक से अधिक किताबों को पढ़ लिया जाए तो वह संभव नहीं होगा। इससे आपके भीतर दुविधा की स्थिति पैदा हो जाएगी। वह कहते है कि अगर कोई सिलेबस मिलने में परेशानी आती है तो आप उसको आनलाइन खोज सकते हैं। इसके अलावा मौखिक तैयारी के साथ लिखने का प्रयास अधिक से अधिक करे।

सबकुछ प्लान करके चले, नहीं होगा आपका समय नहीं होगा बर्बाद

मंदार कहते है कि तैयारी के दौरान आप सबकुछ पहले से ही प्लान करके चले। इससे आपका समय बर्बाद नहीं होगा। वह कहते है कि यदि आप परीक्षा में पास होते है तो आपके लिए अच्छा होता है, वहीं अगर आप सफल नहीं होते है तो भी आपको काफी कुछ सीखने को मिलता है। वह कहते है जो परीक्षा को पास करने का हौसला रखते है वह जरूर सफल होते हैं।
.

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -