Monday, April 19, 2021
- Advertisement -

37 साल पहले बचाई थी हंस की जान, अब दोनों की दोस्ती हुई बेमिशाल

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

इंसान और जानवरों के बीच दोस्तों को लेकर कई किस्से और कहानियां सुनने को मिलती है। ऐसी ही एक बेमिशाल दोस्ती हंस और इंसान के बीच हो गई है। इंसान ने 37 साल पहले एक हंस की जान बचाई थी। जिसके बाद से वह हंस उनका दोस्त बन गया। तुर्की के पश्विमी एडिरने इलाके में रहने वाले सेवानिवृत डाकिया रेसेप मिर्जान को 37 साल पहले एक हंस मिला था। जिसके पंख टूटे हुए थे। उन्हें पता चल गया कि इस हंस के पीछे शिकारी पड़े हुए है। वह उसको मारना चाहते हैं। उन्होंने फौरन हंस को अपनी गाड़ी में डाल दिया।

india times

हंस का कराया इलाज

हंस को अपनी गाड़ी में डालकर घर ले गए। दोपहर तक उसको अपने पास ही रखा। हंस की पूरी अच्छे से देखभाल की। करीबन सात घंटे बाद हंस की स्थिति में सुधार होने लगा। कुछ समय बाद वह ठीक भी हो गया। इसके बाद हंस को मिर्जान से ऐसा लगाव हुआ कि वह उसे अपना घर समझने लगा। हंस धीरे धीरे मिर्जान के खेत में रहने लगा। उसने वहां पर जानवरों से भी दोस्ती कर ली। पक्षी विशेषज्ञों के अनुसार हंस की उम्र 12 साल होती है। लेकिन उन्हें बेहतर वातावरण दिया जाए तो वह 30 साल तक रह सकते हैं। गैरीप नाम का ये हंस बेहद खास पक्षी है। उसकी उम्र 37 साल होती है। यह हंस अभी भी मिर्जान के खेत में रह रहा है। वह उसका सबसे अच्छा दोस्त बन गया है। शाम के समय उसके साथ वॉक पर भी जाता है।

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -