Monday, April 19, 2021
- Advertisement -

स्वास्थ्य कारणों से सेना से तीन बार निकाले गए, नहीं मानी हार और बन गए आईपीएस

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

कई बार कड़वे अनुभव के चलते व्यक्ति अपने लक्ष्य को ही छोड़ देता है। लेकिन कई लोग उन कड़वे अनुभव को अपने लिए सफलता की सीढ़ी बना लेते हैं। ऐसे ही लोगों ने दिल्ली पुलिस के डीसीपी इंगित प्रताप सिंह। जिन्होंने कड़वे अनुभवों को अमृत बनाकर अपने मंजिल को हासिल किया। डीसीपी इंगित प्रताप सिंह को सेना से स्वास्थ्य कारणों के चलते तीन बार निकाला गया। दिल्ली सरकार ने सिविल सर्विस करने वाले छात्रों के लिए कार्यक्रम शुरू किया है। जिसमें दिल्ली सरकार और आईपीएस अधिकारी छात्रों के सवालों का जवाब देते हैं।

instagram

इंगित प्रताप सिंह ने छात्रों को बताए सफलता के राज

दिल्ली सरकार के शिक्षा मंत्री मनीष सिसौदिया के साथ छात्रों का जवाब देने के लिए डीसीपी इंगिंत प्रताप सिंह शामिल हुए। इंगिंत प्रताप सिंह ने छात्रों को मोटिवेट करते हुए कहा कि कभी भी असफलता से घबराओं मत। अगर आप बार बार फेल होते हो तो दोबारा अपने कदम बढ़ा लो। सफलता एक दिन आपको अवश्य हासिल होगी। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य कारणों के कारण तीन बार वह सेना से निकाले गए। लेकिन फिर उन्होंने हार नहीं मानते हुए सिविल सर्विस की तैयारी की। जिसके बाद वह आईपीएस के लिए चुने गए।

हर माह छात्रों से किया जाता संवाद
यूपीएससी का सपना देखने वाले छात्रों से दिल्ली सरकार ने हर माह छात्रों से संवाद करने की योजना बनाई है। इस कार्यक्र म में आने वाले आईएएस और आईपीएस छात्रों से अपने अनुभव शेयर करते हैं। इस बार इंगित प्रताप सिंह ने छात्रों ने अपने अनुभव शेयर किए। उन्होंने छात्रों को कई महत्वूपर्ण सवालों के जवाब दिए। उन्होंने कहा कि यूपीएससी केवल ट्रेलर है। असली काम तो आपका जॉब में आने में शुरू होता है।

एक दरवाजा बंद तो दूसरे पर दे दस्तक

इंगित प्रताप ने कहा कि जब एक दरवाजा बंद हो तो दूसरे दरवाजे पर दस्तक दे। उन्होंने कहा कि तैयारी के लिए विषयों का केवल सतही ज्ञान नहीं होना चाहिए। यूपीएसई परीक्षा में उत्र्तीण होने के लिए आपको गहराई से ज्ञान होना जरूरी है। कार्यक्रम में शिक्षा निदेशक उदित प्रकाश राय ने कहा कि सिविल सर्विस की तैयारी के समय मिथ्यों से दूर रहकर बच्चों को पूरे आत्मविश्वास से तैयारी करनी चाहिए। कार्यक्रम में शामिल मनीष सिसौदिया ने कहा कि केवल अंकों के लिए पढ़ाई नहीं करनी चाहिए। हमे सीखने के लिए पढ़ाई करनी चाहिए। इस तरह से अध्यन कभी बोझ नहीं लगेगा।

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -