Wednesday, April 21, 2021
- Advertisement -

Ratan Tata : सोशल मीडिया पर छिड़ गया अभियान, रतन टाटा को भारत रत्न देने की हो रही मांग

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

देश और दुनिया में अपनी काबलियत के दम पर भारत के उद्योग जगत का झंडा बुलंद करने वाले टाटा गु्रप के सर्वेसर्वा रतन टाटा को अब भारत रत्न दिए जाने की आवाज बुलंद होने लगी है। सोशल मीडिया पर यह मांग जोरदार तरीके से टें्रड हो रही है। हर कोई रतन टाटा को इस सर्वोच्च पुरस्कार से सम्मानित करने की मांग कर रहा है। सोशल मीडिया पर इस समय उक्त मांग को लेकर बुलंद आवाज से गूंज रहा है।

instagram/ratantata

विवेक बिंद्रा ने शुरू की मुहिम

बता दें कि मोटिवेशन वक्ता विवेक बिंद्रा ने ही रतन टाटा को भारत रत्न देने की मांग उठाई है। उन्होंने एक टवीट किया और कहा कि भारत के प्रसिद्ध उद्योगपति रतन टाटा को हम भारत रत्न देने की मांग करते हैं। जुडि़ए इस मुहिम से और टवीट को ज्यादा से ज्यादा रिटवीट करिए।

सोशल मीडिया पर छा गए रतन टाटा

इसके बाद तो सोशल मीडिया इस मांग का समर्थन करने वालों से भर गया। हर कोई इस टवीट को रिटवीट करते हुए रतन टाटा को भारत रत्न देने की मांग करने लगा है। टवीट किया जा रहा है कि भारत के सबसे विनम्र व्यक्तियों में से एक रतन टाटा को भारत रत्न देने का आग्रह करता हूं। एक अन्य यूजर ने लिखा है कि उन्हें जीवित रहते हुए ही इस पुरस्कार से नवाजा जाना चाहिए। मैं इस मांग का समर्थन करता हूं। रतन टाटा इस पुरस्कार के हकदार हैं।

बहुत पहले देना चाहिए थे, चलो अब दे दो

लोगों का कहना है कि हालांकि यह पुरस्कार बहुत पहले ही उन्हें दिया जाना चाहिए। लेकिन कोई बात नहीं अब मांग उठी तो उसे पूरा किया जाना चाहिए। लोगों ने कहा कि रतन टाटा ने हर मुश्किल घड़ी में देश को सहारा दिया है। कोरोना काल में वह सबसे पहले ऐसे उद्योगपति थे, जिन्होंने सबसे अधिक आर्थिक सहायता देश को दी थी। इसके अलावा ताज होटल पर हुए हमले में भी उन्होंने अपना पूरा कर्तव्य निभाया था तथा इस हमले में मारे गए और घायल हुए लोगों को ना केेवल मुआवजा दिया ,बल्कि उनके घर परिवार और बच्चों की जिम्मेदारी भी खुद पर उठाई। इसके साथ साथ रतन टाटा हर वक्त देश की सहायता के लिए तत्पर रहते हैं।

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -