Friday, April 16, 2021
- Advertisement -

BSC के छात्रों की मेहनत रंग लाई, जल्द ही पेट्रोल की बजाए पानी से चलेगी बाईक, तैयार हुई खास किट

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...

चार दोस्तों ने लॉकडाऊन में एक ऐसा कारनामा कर दिखाया है, जोकि आज देश के लिए बहुमूल्य साबित होने की स्थिति में है। बीएससी सब्जेक्ट से पढ़ाई करने वाले इन चार दोस्तों ने अपनी मेहनत से एक ऐसी किट तैयार की है, जो पानी को पेट्रोल बना देगी। इस किट के लगते ही बाईक पेट्रोल की बजाए पानी से चलेगी। जी-हां हो गए ना हैरान, मगर यह खबर इन दिनों मीडिया की सुर्खियां बनी हुई हैं। चार दोस्तों ने मिलकर यह अविष्कार किया है। यदि इस अविष्कार को सरकार ने अनुमति दे दी तो जल्द ही सडक़ों पर पानी से चलने वाली बाईक दौड़ती नजर आएंगी।

aaj tak

30 रूपए में चलेगी 100 किलोमीटर

12 वीं पास यश व उसके दोस्तों का दावा है कि पानी से हाईड्रोजन और आक्सीजन को अलग कर ये इस किट को बनाने का प्रयोग किया गया है। इस किट की मदद से महज 30 रुपए के खर्च में मोटसाईकिल इतनी जबरदस्त माईजेल देगी कि वह सौ किलोमीटर तक दौड़ सकेगी। इस गु्रप के प्रमुख सदस्य यश ने आज तक से बातचीत में कहा है कि जब वह दसवीं का छात्र था तो अक्सर अपने पापा की बाईक लेकर घूमने निकल जाता था। वह तब तक बाईक को दौड़ता था, जब तक उसका सारा पेट्रोल खत्म नहीं हो जाता था।

तब सोचा था काश पानी से चलती बाईक

इसके लिए यश को अपने पापा से फटकार भी सुननी पड़ती थी। पिता की डांट के बाद यश यह सोचा करता था कि काश उसकी बाईक पेट्रोल की बजाए पानी से चलती। 12वीं पास करने के बाद यश और उसके चार दोस्तों ने बीएससी में दाखिला लिया। इस दौरान लॉकडाऊन की घोषणा हो गई। इस खाली वक्त में इन दोस्तों ने आपस में कुछ नया और बड़ा काम करने का विचार किया। इस दौरान सभी ने पानी से चलने वाली बाईक की किट तैयार करने का सोचा।

इन सभी ने किया है ये करिश्मा

महाराष्ट्र के अकोला में रहने वाले यश, शांतनु, मंदार कल्ले, अभिजीत डामरे और महेश घाटे ने यह कारनामा करने का हौंसला दिखाया है। किट बनाने के लिए इन सभी ने पुरानी बाइक और इंजन को अपने हिसाब से तैयार किया। खारे पानी से हाईड्रोजन और आक्सीजन गैस को अलग अलग किया गया। फिर पिस्टन को इस तरह से तैयार किया कि वह पानी को पेट्रोल के तौर पर बनाई गई किट के लिए खुद ही फिट हो जाए। इस किट को बनाने पर करीब डेढ़ लाख रुपए का खर्च आया है। उनके अनुसार इस तरह की किट से बाईक चलाने पर कोई प्रदूषण भी नहीं फैलता। यश का कहना है कि यदि सरकार उन्हें हेल्प करे तो वह एडवांस तौर पर किट तैयार कर सकते हैं, ताकि लोगों को कम कीमत पर किट उपलब्ध करवाई जा सकें।

किट को पेटेंट करवाने के लिए किया आवेदन

वहीं यश ने बताया कि किट के डिजाईन का पेटेंट करवाने के लिए कंट्रोलर जनरल ऑफ पेटेंटस, डिजाईन एंड टे्रड मार्क को एप्लाई किया गया है। इसके बाद इस किट को मान्यता दिलवाने के पास सरकार के पास भी आवेदन किया जाएगा। माना जा रहा है कि यदि सरकार ने इस किट को मान्यता प्रदान कर दी तो आने वाले दिनों में पानी से बाईक को सस्ते व सरल तरीके से चलाया सकेगा। यह अपने आप में एक बड़ा और महत्वपूर्ण अविष्कार माना जा रहा है। सरकार को इन छात्रों की मेहनत को प्रोत्साहित करने की दिशा में भी कदम उठाना चाहिए। इस किट के सहयोग से गलोबल वार्मिंग का खतरा भी काफी कम हो सकता है।

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -