Friday, April 23, 2021
- Advertisement -

जज्बे को सलाम: PPE किट पहनकर पेपर देने एंबुलेंस में बैठ गई ये साहसी महिला, ड्राईवर बना परीक्षा प्रभारी

Must Read

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...

अलग ही मिट्टी के बने तुषार, 17 साल तक असफलताओं से लड़े, अब बने जज

लोग दो या तीन साल की मेहनत के बाद सफल नहीं होते है तो वह टूट जाते है। लोग...

शहर घूमने सडक़ों पर निकला कोबरा तो रूक गया ट्रैफिक, घटना का वीडियो वायरल

वन्य जीवों के शहर में घूसने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। कभी तेंदुआ तो कभी कोई...
Sanjay Kapoorhttps://citymailnews.com
Sanjay kapoor is a chief editor of citymail media group

एक महिला ने तमाम संकटों के बीच भी अपनी पढ़ाई का जज्बा छोड़ा नहीं। हालांकि उनके सामने संकट अपनी जान बचाने को लेकर था। इसके बावजूद पीछे हटने की बजाए प्रशासन की मदद से इस धैर्यवान और साहसी महिला ने ना केवल अपनी परीक्षा दी, बल्कि अपनी हिम्मत का भी परिचय दिया। केरल की रहने वाली महिला सलीनी कोरोना से पीडि़त हो गई थीं। इस बीच सिर पर पीसीएस स्टॉफ नर्सिंग की परीक्षा आ गई। एक तरफ कोरोना पॉजीटिव होने की वजह से उसके सिर पर गहरा संकट मंडरा रहा था तो वहीं दूसरी ओर इस परीक्षा को देना भी उसके लिए जरूरी था।

Screengrab / mathrubhumi news

सलीनी ने उठाया साहसी कदम

ऐसे में सलीनी ने एक साहसिक कदम उठाया और परीक्षा देने का निर्णय ले लिया। मगर इससे पहले उन्होंने प्रशासन से सहयोग की अपील की। प्रशासन ने भी इस मुसीबत भरे क्षण में उसका साथ दिया। प्रशासनिक अधिकारी राकेश पाई और सरकारी ब्यॉज स्कूल की प्रिंसीपल विनीता ने उनकी ओर मदद के हाथ बढ़ाए।

पीपीई किट पहनकर दी परीक्षा

सबसे पहले सलीनी को पीपीई किट पहनाकर इस परीक्षा के लिए तैयार किया गया। उन्हें मानसिक रूप से स्पोर्ट करते हुए बढिय़ा परीक्षा देने के लिए प्रोत्साहन भी दिया गया। हालांकि सलीनी क्वारंटाईन परियड में थी, मगर उनके लिए पेपर देने भी बहुत जरूरी था। प्रशासन की मदद से परीक्षा अधिकारी से अनुमति लेकर सलीनी ने एंबुलेंस में बैठकर परीक्षा देने का निर्णय लिया। इस तरह से उन्होंने एंबुलेंस में पीपीई किट पहनने के साथ ही अपनी परीक्षा दी।

ड्राईवर बना परीक्षा अधिकारी

इस दौरान एंबुलेंस ड्राईवर ने परीक्षा प्रभारी के तौर पर अपनी भूमिका निभाई। इसके साथ साथ इस परीक्षा के लिए विशेष तौर पर अधिकारियों को नियुक्त किया गया। जिन्होंने दूर से ही सलीनी पर पूरी नजर रखी। इस तरह से यह साहसी लडक़ी अपनी परीक्षा देने में सफल रही। उसने ना तो अपनी जान की परवाह की और ना ही अपनी परीक्षा छोड़ी। सिटीमेल न्यूज ऐसी साहसी और धैर्यवान युवती को सलाम करता है।

- Advertisement -

Latest News

वैलंटाईन डे मनाने का अनोखा तरीका,मालगाड़ी के नीचे पहुंच गया प्रेमी जोड़ा, फोटो देखकर आएगा मजा

वैलंटाईन डे को प्यार के दिन के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में प्रेमी जोड़े...
- Advertisement -

और भी पढ़े

- Advertisement -